हर व्यक्ति 5 पौधे लगाए और ग्रीन राजस्थान बनाएं -मुख्यमंत्री
जयपुर।  
मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने गुरूवार को झालावाड़ जिले के रूपपुरा बालदिया गांव से मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के अन्तर्गत प्रदेश में 67वें राज्य स्तरीय वन महोत्सव का शुभारंभ किया। वन महोत्सव के दौरान पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के लिए चिन्हित स्थानों पर 25 लाख पौधे लगाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने झालावाड़ के ही धानोदी औद्योगिक क्षेत्र में श्री वल्लभ पित्ती ग्रुप द्वारा लगाई गई 450 करोड रूपये की पॉलिस्टर एवं कॉटन ब्लेन्डेड यार्न इंडस्ट्रीज का उद्घाटन भी किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जनसभा को सम्बोधित करते हुए आमजन से प्रदेश को हरा-भरा बनाने में योगदान देने की अपील की। उन्होंने आह्वान किया कि प्रत्येक व्यक्ति पांच-पांच पौधे लगाएं और अपनी संतान की तरह उनकी परवरिश करें। उन्होंने कहा कि राजस्थान में पेड़ों के बचाने के लिए लोगों ने अपनी जान तक दे दी। अमृता देवी ने खेजड़ी वृक्ष की रक्षा के लिये अपना सिर कटवा दिया। आज पूरा राजस्थान उनको याद करता है। दस कन्याओं के विवाह जितना पुण्य मिलता है एक पेड़ लगाने से श्रीमती राजे ने अग्नि पुराण का श्लोक उद्धृत करते हुए कहा कि 10 कुएं खुदवाने से जितना पुण्य मिलता है, उतना पुण्य एक बावड़ी बनाने से मिलता है तथा 10 बावड़ी बनाने जितना पुण्य एक तालाब बनाने से मिलता है। 10 तालाब बनाने के बराबर पुण्य एक कन्या का विवाह करने से मिलता है तथा 10 कन्याओं के विवाह करने जितना पुण्य एक पेड़ लगाने से मिलता है। अतः हम सभी लोग पेड़ लगाकर इतना सारा पुण्य अर्जित कर सकते हैं। पौधों की होगी जिओ टैगिंग श्रीमती राजे ने कहा कि वन महोत्सव में जो पौधे लगाए जायेंगे उनकी जिओ टैगिंग भी की जायेगी ताकि पौधों की पहचान सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने कहा कि पौधों की उचित देखभाल हो सके इसके लिए वन महोत्सव कार्यक्रम को नरेगा से जोड़ा जा रहा है। जल स्वावलम्बन अभियान के दूसरे चरण में सर्वेक्षण दल को नया मोबाइल सॉफ्टवेयर ’वे पॉइंट’ उपलब्ध करवाया जा रहा है, जिससे जल स्वावलम्बन कार्याें का मुख्यालय से अवलोकन किया जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वन विभाग भी प्रदेश में 61 हजार हेक्टेयर भूमि पर करीब ढाई करोड़ पौधे लगायेगा। मुख्यमंत्री ने लगाई पंचवटी श्रीमती राजे ने राज्य स्तरीय कार्यक्रम में रूपपुरा बालदिया गांव में पहाड़ी पर पंचवटी के पांच पौधों का रोपण किया। यहां कुल 2100 पौधे रोपित किए गए। श्रीमती राजे ने इस अवसर पर लगाई गई प्रदर्शनी तथा जल स्वावलम्बन अभियान के तहत किए गए मृदा एवं जल संरक्षण कार्याें का अवलोकन भी किया। इससे पहले वन एवं पर्यावरण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री निहाल चंद गोयल ने कहा कि वनों के विस्तार से राज्य का हैप्पीनेस इंडेक्स ऊंचा उठेगा। रिसर्जेण्ट राजस्थान का सपना हो रहा है साकार - मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री ने पित्ती समूह की 450 करोड़ रुपए की पॉलिस्टर एवं कॉटन ब्लेन्डेड यार्न इंडस्ट्रीज का उद्घाटन करने के बाद कहा कि रिसर्जेंट राजस्थान में हमने उद्यमियों से जो वादा किया वो आज साकार हो रहा है। उन्होंने इस अवसर पर पित्ती ग्रुप की कोटड़ा जागीर में 12 सौ करोड़ रुपये की लागत से लगने वाली दो इकाइयों का शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान अब इन्वेस्टमेन्ट फ्रेण्डली राज्य के रूप पूरी दुनिया में पहचान बना चुका है। यार्न फैक्ट्री की स्थापना से झालावाड़ सहित कोटा संभाग के किसानों को प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा। यह फैक्ट्री 500 लोगों को प्रत्यक्ष एवं 30 हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देगी। दो नई इकाइयों की स्थापना से 4 हजार व्यक्तियों को प्रत्यक्ष रोजगार एवं बड़ी संख्या में किसानों को अप्रत्यक्ष लाभ मिलेगा। एम-मित्रा तथा ई-ज्ञान कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने पित्ती समूह के कौशल विकास केन्द्र का उदघाटन किया तथा एम-मित्रा कार्यक्रम का भी शुभारम्भ किया। इस कार्यक्रम में एक वर्ष तक के शिशुओं एवं प्रसूता महिलाओं को अपने मोबाइल से पंजीयन कराने पर स्वास्थ्य एवं टीकाकरण की जानकारी निशुल्क दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने ’जीमो सा’ कार्यक्रम का भी शुभारम्भ किया। इसमें जरूरतमंद लोगों को किफायती दरों पर भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। श्रीमती राजे ने इस अवसर पर जिला प्रशासन झालावाड़ द्वारा तैयार किये गये कार्यक्रम ई-ज्ञान का शुभारम्भ भी किया। इससे घर बैठे 45 हजार किताबों का अध्ययन किया जा सकेगा। पित्ती समूह के संरक्षक श्री विनोद कुमार पित्ती ने कहा कि सरकार उद्यमियों के लिए जो सहायता प्रदान कर रही है, उससे राजस्थान में निवेश का वातावरण बना है। एनिमेशन एकेडमी और लैब का उद्घाटन श्रीमती राजे ने आईटीआई झालावाड़ में एनिमेशन एकेडमी तथा चम्बल फर्टिलाइजर की ओर से स्थापित लैब का उद्घाटन किया। उन्होंने केटर पिलर द्वारा स्थापित किए जा रहे सेन्टर ऑफ एक्सीलेंस का शिलान्यास भी किया। कार्यक्रमों के दौरान जिले के प्रभारी मंत्री यूनुस खान, सांसद दुष्यंत सिंह, विधायक नरेन्द्र नागर, कंवरलाल मीणा, रामचन्द्र सुनारीवाल, जिला प्रमुख श्रीमती टीना कुमारी भील तथा राज्य स्तरीय जन अभाव अभियोग एवं सतर्कता समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार, राजस्थान रिवर बेसिन प्राधिकरण के अध्यक्ष श्रीराम वैदिरे, आरपीएससी के सदस्य श्याम सुंदर शर्मा, जिला प्रभारी सचिव जेसी महान्ति, संभागीय आयुक्त रघुवीर सिंह मीणा, पित्ती समूह के अध्यक्ष चिराग कुमार पित्ती, जिला कलेक्टर डॉ. जितेन्द्र सोनी, प्रधान मुख्य वन संरक्षक डॉ. एसएस चौधरी, आरएसएलडीसी के कमिश्नर श्री कृष्ण कुणाल सहित अनेक गणमान्यजन तथा बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे। ---

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top