पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर करवाई पति की हत्या
समदड़ी/
बाड़मेर केराजस्थान के बाड़मेर जिले के सामूजा गांव की सरहद में मिले शव के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर मृतक की पत्नी, उसके प्रेमी सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है। प्रेमी के साथ नाते के लिए पत्नी व प्रेमी ने पति की हत्या की दो जनों को सुपारी दी थी। आरोपितों ने हत्या के बाद मामले को आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की थी।
गत 24 जून को सामूजा गांव की सरहद में सड़क के किनारे एक जाल के पेड़ के पास पुखतारी (पाली) निवासी छोगाराम (45) पुत्र नेमाराम कलबी चौधरी का शव मिला था। इस संबंध में मृतक के भाई वेलाराम ने थाने में रिपोर्ट पेश कर बताया कि छोगाराम व उसकी पत्नी कमला देवी के बीच लम्बे समय से अनबन थी। 
इसके चलते कमला देवी अपने दो पुत्रों के साथ गत सात माह से अपने पीहर गांव रामा (जालोर) में ही रह रही है। कमला देवी का भोरड़ा (जालोर) निवासी हीराराम पुत्र चेलाराम कलबी चौधरी के साथ संबंध है और इसी वजह से दोनों ने मिल छोगाराम की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंक दिया। 
पुलिस के अनुसार कमला हीराराम के साथ नाता (पति की मौत के बाद पत्नी का अन्य व्यक्ति के साथ विवाह करना) जाना चाहती थी, छोगाराम के जीवित रहते यह सम्भव नहीं था। ऐसे में कमला और हीराराम ने छोगाराम को रास्ते से हटाने की साजिश रची। हीराराम ने अपने काश्तकार रामा (जालोर) निवासी गटूनाथ पुत्र चौथनाथ कालबेलिया जोगी को छोगाराम की हत्या के लिए तैयार किया और 30 हजार की सुपारी देकर 5 हजार रुपए एडंवास दिए। 
गटूनाथ अपने साथी राखी (समदड़ी) निवासी जबरनाथ पुत्र मंशीनाथ कालबेलिया को साथ ले मोटरसाइकिल से 23 जून की शाम को पुखतारी गांव पहुंचा। वहां गटूनाथ ने अपने मोबाइल से छोगाराम को कॉल कर कहा कि उसकी पत्नी को पीहर वाले भेजने को तैयार हैं और वे उसे लेने उसके गांव आए हैं। छोगाराम ने दोनों पर भरोसा कर लिया और उनके साथ पत्नी को लेने ससुराल रवाना हो गया। 
दोनों आरोपित छोगाराम को सामूजा गांव की सरहद में सुनसान जगह पर ले गए और वहां उसकी गला घोंट हत्या कर दी। विरोध करने पर उसके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई। हत्या के बाद आरोपितों ने छोगाराम की धोती खोल उसका फंदा बना उसके गले व जाल पर बांध दिया और अपने घर चल दिए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top