बाड़मेर संभावित अतिवृष्टि एवं बाढ से निपटने के  लिए पुख्ता प्रबन्ध सुनिश्चित करने के निर्देश
बाड़मेर। 
जिले में आगामी दिनों में दक्षिणी-पश्चिमी मानसून के आगमन पर संभावित अतिवृष्टि एवं बाढ की स्थिति में पूर्व तैयारियों संबंधी बैठक में दिए गए निर्देशों तथा अब तक की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक गुरूवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. बिश्नोई की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। 
इस अवसर पर बिश्नोई ने कहा कि गत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष अधिक वर्षा होने की संभावना है। उन्होने अधिकारियों को संभावित अतिवृष्टि से निपटने के लिए उनके विभाग से संबंधित आवश्यक व्यवस्थाएं समय से पूर्व पुख्ता रखने के निर्देश दिए ताकि ऐसी स्थिति उत्पन्न होने पर हालात से निपटा जा सकें। उन्होने अधिकारियों से कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार उनके विभाग से संबंधित सभी व्यवस्थाएं जिम्मेवारी के साथ पुख्ता रखी जाए, आवश्यकता पडने पर व्यवस्थाएं पुख्ता नहीं पाये जाने पर व्यक्तिगत जिम्मेवारी तय की जाएगी। उन्होने बाढ के दौरान संचार व्यवस्थाओं को अति महत्वपूर्ण बताते हुए इसे सुचारू रखने के निर्देश दिए तथा अधिकारियों को महत्वपूर्ण टेलीफोन नम्बरों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। साथ ही जिला मुख्यालय समेत सभी उपखण्ड मुख्यालयों तथा जन सुविधाओं से जुडे सभी विभागों में नियन्त्रण कक्ष स्थापित कर उनके दूरभाष नम्बर के व्यापक प्रचार के निर्देश दिए। 
अतिरिक्त जिला कलक्टर ने विभिन्न विभागों द्वारा अब तक की गई तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की तथा उपलब्ध संसाधनों को दुरस्त रखने के निर्देश दिए। उन्होने जल भराव वाले क्षेत्रों की पहचान करने तथा वहां आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि विभागों में उपलब्ध संसाधनों तथा उपकरणों का प्रायोगिक परीक्षण कर कार्यशील रखा जाए। इसी प्रकार उन्होने उपखण्ड स्तर पर एक सप्ताह में बैठक आयोजित कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होने सभी विभागों को आवश्यक वस्तुओं, संसाधनों एवं उपकरणों के संबंध में प्रि-कान्ट्रेक्ट करने के निर्देश दिए ताकि आवश्यकता पडने पर सामग्री तुरन्त प्राप्त कीे जा सकें। 
बैठक में आवश्यकतानुसार रेत के कट्टे रखवाने, पेयजल की पुख्ता व्यवस्था करने, पम्प सेटों की उपलब्धता रखने, खाद्यान्न, गैस, कैरोसीन आदि का पर्याप्त स्टाॅक रखने, पर्याप्त मात्रा में दवाईयों तथा मेडिकल किट तैयार रखने, नावों, लाइफ जैकेट, तैराकों, धर्मशालाओं एवं सुरक्षित स्थानों की सूची, स्वयं सेवी संस्थाओं एवं भामाशाहों की सूची तैयार रखने के निर्देश दिए। उन्होने नगर परिषद बाडमेर एवं बालोतरा के अधिकारियों को 10 जुलाई से पूर्व नालों की सफाई करवाने, बहाव क्षेत्र से अवरोघ हटाने, जिले के सभी विद्यालयों एवं आंगनवाडी केन्द्रों का निरीक्षण करवाकर संस्था प्रधानों से भवन सुरक्षित होने संबंधी प्रमाण पत्र लेने, डिस्काॅम को विद्युत लाईनों को दुरस्त करवाने के निर्देश दिए। 
बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल. नेहरा, जसाई के कर्नल वी.के. टामर, जालीपा के ले.कर्नल वी.के. सिंह, बीएसएफ बाडमेर के विवेक ठाकूर, एयरफोर्स स्टेशन उतरलाई के आर. श्रीनिवासन, 96 आरसीसी ग्रेफ के किशोर आर फुले, उपवन संरक्षक लक्ष्मण लाल, सानिवि अधीक्षण अभियन्ता जे. आर. जीनगर, जिला रसद अधिकारी राकेश शर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.के.एस बिष्ट समेत कैयर्न, राजवेस्ट, बीएसएनएल, डाकघर, जलदाय, विद्युत तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top