बाड़मेर कलक्टर ने किया आंगनबाड़ी केंद्रों का आकस्मिक निरीक्षण, व्यवस्थाओ  में सुधार के निर्देश
बाड़मेर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने मंगलवार को विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रांे का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान कुछ स्थानांे पर कार्यकर्ताआंे के अनुपस्थित मिली। जिला कलक्टर ने संबंधित कार्यकर्ताआंे के खिलाफ कार्रवाई करने एवं उनको निर्धारित समय पर केन्द्र खोलने के निर्देशदिए है।
बाड़मेर,19 अप्रेल। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने मंगलवार को बाड़मेर जिले मंे विभिन्न स्थानांे पर चल रहे आंगनबाड़ी केन्द्रांे का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान कुछ केन्द्रांे पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अनुपस्थित मिली। वहीं कई कार्यकर्ता यूनिफार्म मंे नहीं मिली। इसको गंभीरता से लेते हुए जिला कलक्टर ने समस्त आंगनबाड़ी केन्द्र प्रतिदिन निर्धारित समय प्रातः 8 से दोपहर 12 बजे तक खोलने के निर्देश दिए है। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं सहयोगिनियांे को निर्धारित यूनीफार्म मंे आने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक को पाबंद करने के निर्देश दिए गए है। 
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने मंगलवार को बंधुआ मजदूर कालोनी बाड़मेर आगोर मंे आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अनुपस्थित मिली। यहां सहायिका उपस्थित मिली। आसपास की महिलाआंे ने बताया कि आंगनबाड़़ी कार्यकर्ता अक्सर देर से आती है। इस पर इसके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। इसी तरह कुड़ला आंगनबाड़ी केन्द्र पर एक भी बच्चा उपस्थित नहीं था। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित थी। जबकि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहयोगिनी अनुपस्थित मिली। शिवकर आंगनबाड़ी केन्द्र पर आशा सहयोगिनी अनुपस्थित मिली। केन्द्र पर आठ बच्चे उपस्थित थे, जबकि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पानी लेने के लिए गई हुई थी, जो निरीक्षण के दौरान थोड़ी देर से केन्द्र पर पहुंची। गालाबेरी केन्द्र पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ,सहयोगिनी एवं सहायिका उपस्थित मिली। यहां पर प्री स्कूल गतिविधियां संचालित होती पाई गई। खेल एवं कविता के माध्यम से बच्चांे को जानकारी दी जा रही है। पंजीकृत बच्चांे की गतिविधियांे को देखने से पता चला कि यहां पर यह केन्द्र नियमित रूप से संचालित हो रहा है। इसी तरह श्रीराम डूडी की ढाणी केन्द्र पर कार्यकर्ता के साथ 12 बच्चे उपस्थित मिले। यहां पिछले दो माह से टीकाकरण के लिए एएनएम के नहीं आने की बात सामने आई। इस पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को संबंधित एएनएम को पाबंद करने के निर्देश दिए गए। रावतसर आंगनबाड़ी केन्द्र पर भी गतिविधियां संचालित होती पाई गई। यहां नामांकन के विरूद्व कम उपस्थिति पर कार्यकर्ता को बच्चांे की उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। चवाणी मेघवालांे की ढाणी आंगनबाड़ी केन्द्र निर्माणाधीन भवन मंे संचालित होता पाया गया। यहां टीकाकरण के लिए रावतसर स्वास्थ्य केन्द्र पर जाने से होने वाली समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए गए। इंदिरा कालोनी आंगनबाड़ी केन्द्र पर सहायिका अनुपस्थित मिली। वहीं कार्यकर्ता की पोलियो अभियान मंे डयूटी होने के कारण उपस्थित नहीं थी। मौके पर गर्म पोषाहार तैयार था। केन्द्र पर अपूर्ण रिकार्ड को पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। आदर्श चवा आंगनबाड़ी केन्द्र पर कार्यकर्ता, सहयोगिनी एवं सहायिका यूनिफार्म मंे नहीं मिली। इस पर इनको यूनिफार्म मंे आने के लिए पाबंद किया गया। आकस्मिक निरीक्षण के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक सती चौधरी भी जिला कलक्टर के साथ रही। इसी तरह रबारियो की ढाणी आंगनबाड़ी केन्द्र पर पंजीकृत बच्चांे की अपेक्षा उपस्थिति कम होने पर इसमंे सुधार के निर्देश दिए गए। जिला कलक्टर शर्मा ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रांे का नियमित रूप से निरीक्षण किया जाएगा। उन्हांेने कार्यकर्ता,सहयोगिनी एवं सहायिका को निर्धारित समय पर आंगनबाड़़ी केन्द्रांे को खोलने एवं निर्धारित यूनिफार्म मंे आने के साथ नियमित रूप से विभागीय निर्देशानुसार प्री स्कूल गतिविधियां संचालित करने के निर्देश दिए है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top