बाड़मेर जल संग्रहण कार्याें से अधिकाधिक लोगो को लाभांवित करें: चौधरी 
राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चैधरी ने गुरूवार को जिला मुख्यालय पर मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत चल रहे कार्याें की प्रगति की समीक्षा की। उन्हांेने कहा कि इस अभियान के तहत समस्त कार्य 30 जून तक पूर्ण कराए जाने है। ऐसे मंे इसको गंभीरता से लेते हुए कार्य स्वीकृति के साथ नियमित रूप से मोनेटरिग की जाए।
बाड़मेर।
मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत वर्षा जल संग्रहण के कार्याें विशेषकर टांका निर्माण से अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित किया जाए। कार्याें की स्वीकृति के साथ समय पर इसको पूर्ण करवाने के लिए विशेष प्रयास किए जाए। ताकि बारिश होने की स्थिति मंे इस अभियान की मंशा के अनुरूप वर्षा जल का संग्रहण हो सके। राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चौधरी ने गुरूवार को जिला मुख्यालय पर मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
राजस्व राज्य मंत्री चौधरी ने कहा कि आमजन को बारिश जल संग्रहण के लिए प्रेरित किया जाए। उन्हांेने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत चल रहे कार्याें की विभागवार समीक्षा की। उन्हांेने कहा कि कार्याें की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। इस दौरान बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने कहा कि एक टांका निर्माण के लिए मौजूदा समय मंे 1.60 लाख रूपए खर्च किए जा रहे है। जबकि इस राशि से तीन टांकांे का निर्माण कराया जा सकता है। उन्हांेने कहा कि बारिश के पानी को संग्रहित करने के लिए अधिकाधिक परिवारांे को जोड़ा जाए। उन्हांेने टांका निर्माण की डिजाइन की समीक्षा करवाने के साथ ग्राम पंचायतवार सर्वे करवाने की जरूरत जताई कि इससे कितने परिवार लाभांवित हुए है। सांसद चैधरी ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत करवाए जा रहे कार्याें का सामाजिक अंकेक्षण करवाने की बात उठाई। इस पर बताया गया कि इन कार्याें के सामाजिक अंकेक्षण के साथ थर्ड पार्टी वेरीफिकेशन करवाया जाएगा। जिले के प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत चल रहे कार्याें को प्राथमिकता से पूरा करवाया जाए। उन्हांेने कहा कि इस अभियान के तहत 4 मई तक आवश्यक रूप से समस्त कार्याें की स्वीकृति जारी कर इसको प्रारंभ करवाया जाए। उन्हांेने विद्यालयांे की छत से टांकांे को जोड़ने का कार्य अधिकतम एक माह की अवधि मंे करवाने को कहा। इसके लिए विभागीय अधिकारियांे को इसका एस्टीमेंट तैयार करवाकर तीव्रगति से कार्य करवाने के निर्देश दिए गए। प्रभारी सचिव ने बाड़मेर जिले मंे आदर्श कार्य के तहत वाटरशेड स्कीम मंे कम्यूनिटी टांका एवं सौर उर्जा माडल बनाने के निर्देश दिए। उन्हांेने मुख्य मंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत स्वीकृत कार्याें को आनलाइन करने एवं एप्प पर फोटो भी अपलोड करने के निर्देश दिए।समीक्षा बैठक मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत चल रहे कार्याें का नियमित रूप से मोनेटरिंग एवं निरीक्षण किया जा रहा है। समीक्षा बैठक मंे मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल़.नेहरा, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, उप वन संरक्षण लक्ष्मणलाल समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। इससे पहले अधीक्षण अभियंता हीरालाल अहीर ने मुख्यमंत्री अभियान के तहत चल रहे कार्याें की जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि बाड़मेर जिले मंे 6021 कार्याें मंे 5145 कार्याें की स्वीकृति जारी कर 2937 कार्य प्रारंभ किए गए है। जबकि 1008 कार्य पूर्ण हो चुके है। इस दौरान राज वेस्ट पावर लिमिटेड के विनोद विटठल एवं केयर्न इंडिया की प्रतिनिधि शांति चैधरी ने इस अभियान मंे अपेक्षित सहयोग करने का भरोसा दिलाया। जिला परिषद सदस्य रूपसिंह राठौड़ ने कहा कि खेत की बाड़ के कार्य को स्थाई बाड़ के रूप मंे तब्दील किया जाए। आमतौर पर बनाई जाने वाली खेतांे की मेड़बंदी कुछ समय बाद टूट जाती है।
भामाशाहांे का हुआ सम्मान: 
समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चैधरी, सांसद सोनाराम चैधरी, प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा, जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान मंे 10 हजार से अधिक राशि का नकद अथवा मशीनरी के रूप मंे सहयोग करने वाले भामाशाहांे को सम्मानित किया। इस दौरान डूंगरपुरी मठ, आरोग्य शाला डूंगरपुरी मठ, तामलोर सरपंच हिन्दूसिंह, बांकल माता वीरातरा ट्रस्ट ढोक, राजवेस्ट पावर लिमिटेड, केयर्न इंडिया, बुड़ीवाड़ा ग्राम पंचायत के सरपंच को सम्मानित किया गया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top