बाड़मेर बैंकर्स सामाजिक उत्तरदायित्व निभाएं: चौधरी 
बाडमेर। 
बैंकर्स सामाजिक उत्तदायित्व को गंभीरता से निभाएं। कमजोर, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जाति वर्ग के लाभार्थियांे को अधिकाधिक ऋण उपलब्ध करवाया जाए। बैंकर्स की अपने उत्तरदायित्वांे को निभाने के प्रति बैंकर्स की स्थिति संतोषजनक नहीं है। बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चैधरी ने बुधवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे जिला स्तरीय साख समन्वय समिति एवं जिला स्तरीय साख समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार ने आमजन को विकास योजनाआंे का फायदा पहुंचाने एवं युवाओ को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए विभिन्न योजनाआंे की शुरूआत की है। बैंकर्स इन योजनाआंे को क्रियान्विति करने मंे गंभीर रवैया अपनाएं। उन्हांेने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना एवं अटल पेंशन योजना का प्रभावी क्रियान्वयन, अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करते हुए आमजन को लाभांवित किया जाए। उन्हांेने कहा कि योजनाआंे के क्रियान्वयन मंे किसी तरह की कौताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सांसद ने इस दौरान योजनाआंे की बैंकवार समीक्षा करते हुए इसमंे अपेक्षित सुधार करने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि ऋण संबंधित लंबित प्रकरणांे का समय पर निस्तारण किया जाए।
इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा ने कहा कि बैंकर्स के योजनाआंे के क्रियान्वयन के प्रति उदासीन रवैए को गंभीरता से लिया जाएगा। बैंकर्स उनको दिए गए लक्ष्यांे की पूर्ति करवाना सुनिश्चित करें। इसमंे किसी तरह लापरवाही बरती गई तो बैंकर्स के उच्च प्रबंधन के रिजर्व बैंक आफ इंडिया को अवगत कराया जाएगा। उन्हांेने कई बैंकर्स की ओर से समय पर सूचनाएं उपलब्ध नहीं कराने को गंभीरता से लेते हुए कहा कि सूचनाएं निर्धारित समय पर आवश्यक रूप से भिजवाई जाए। उन्हांेने बैंक की विभिन्न योजनाआंे की समीक्षा करने के लिए जनवरी माह के अंतिम दिनांे मंे विशेष बैंठक आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्हांेने योजनाआंे की समीक्षा के लिए सूचनाआंे का विस्तृत ब्यौरा समीक्षा बैठक के दौरान प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
समीक्षा बैठक मंे रिजर्व बैंक आफ इंडिया के सहायक महाप्रबंधक राजेन्द्रसिंह रावत ने कहा कि समस्त बैंकर्स रिजर्व बैंक आफ इंडिया की गाइन लाइन की पालना करवाना सुनिश्चित करें। उन्हांेने कहा कि बैंकर्स के अपने सामाजिक उत्तरदायित्व निभाने के साथ विभिन्न योजनाआंे मंे उनको आवंटित लक्ष्य की पूर्ति के लिए प्रयास करें। बैंकर्स की मंशा अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करने की होनी चाहिए। उन्हांेने कहा कि बैंकर्स आमजन को बेहतर सुविधा दिलाने की समुचित व्यवस्था करें। ग्रामीण इलाकांे मंे बीसी को सक्रिय भूमिका निभाने के लिए प्रोत्साहित करें। इसके लिए उनकी मोनेटरिंग करते हुए ग्रामीण इलाकों मंे वित्तीय साक्षरता के लिए प्रचार-प्रसार गतिविधियांे का आयोजन किया जाए। उन्हांेने समस्त बैंकर्स को निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए।
इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि समस्त बैंकर्स रोड़ा एक्ट मंे वसूली के लिए आवश्यक सूचना संबंधित उपखंड अधिकारी एवं तहसीलदार को उपलब्ध करवाएं। ताकि राशि वसूली की कार्रवाई की जा सके। इस संबंध मंे राजस्व अधिकारियांे की बैठक मंे आवश्यक निर्देश दिए जा चुके है। बैठक मंे जिला अग्रणी प्रबंधक विशनाराम बाकोलिया ने प्रमुख बैंकिंग आंकड़ांे के बारे मंे जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2015-16 के दौरान बैंकांे की कुल जमाआंे मंे 19.44 फीसदी की वृद्वि हुई है। बाकोलिया ने बताया कि राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत माह नवंबर तक 26 आवेदकांे को ऋण स्वीकृत किया गया है। इस दौरान साख जमा अनुपात मंे कुछ बैंकांे की स्थिति संतोषजनक नहीं होने पर उनके नियंत्रकांे को पत्र लिखने के निर्देश दिए गए। इसी तरह ऋण वितरण करने मंे भी कुछ बैंकर्स के रूचि नहीं लेने के मामले को भी गंभीरता से लेते हुए आगामी 15 दिनांे मंे आवश्यक कार्रवाई करने तथा प्रगति रिपोर्ट से अवगत कराने के निर्देश दिए गए। नगर परिषद के आयुक्त श्रवण कुमार विश्नोई ने बताया कि एनयुएलएम के तहत बाड़मेर जिले मंे बेहतरीन कार्य हुआ है। नाबार्ड के जिला प्रबंधक माणकचंद रेगर ने बताया कि जिले मंे 379 किसान क्लब गठित किए गए है। अनुसूचित जाति जन जाति निगम के परियोजना प्रबंधक ताराचंद चैहान ने बताया कि वर्ष 2015-16 के दौरान 1660 आवेदकांे को ऋण वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्हांेने सब्सिडी जारी करने के बाद कुछ बैंकर्स द्वारा ऋण स्वीकृत नहीं करने का मामला उठाया। बाड़मेर नगर परिषद प्रदेश मंे प्रथम स्थान पर है। इस दौरान राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के जिला प्रबंधक गौतम माथुर ने बताया कि बाड़मेर जिले मंे कौशल विकास के लिए 7 प्रशिक्षण केन्द्र संचालित किए जा रहे है। राजस्थान मरूधरा ग्रामीण बैंक के प्रबंधक ने बताया कि बैंक ने किसानांे के लिए किसान समृद्वि योजना की शुरूआत की है। इसमंे आवास, सिंचाई सुविधा एवं सौर उर्जा के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। समीक्षा बैठक मंे नाबार्ड के जिला प्रबंधक माणकचंद रेगर, उद्योग केन्द्र के महा प्रबंधक घनश्याम गुप्ता समेत विभिन्न बैंकांे के प्रबंधक एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 
बैंक अधिकारियांे को बैंठकांे मंे उपस्थित होने के निर्देश: समीक्षा बैठक के दौरान रिजर्व बैंक आफ इंडिया के सहायक महाप्रबंधक को अवगत कराया गया कि कई बैंक अधिकारी ब्लाक लेवल पर आयोजित होने वाली बैठकांे मंे उपस्थित नहीं होते है। इस पर समस्त बैंक अधिकारियांे को बैंठकांे मंे शामिल होने संबंधित विवरण भिजवाने के निर्देश दिए गए।
बैंक प्रतिनिधियांे की मोनेटरिंग के निर्देश: 
समीक्षा बैठक के दौरान सांसद कर्नल सोनाराम चैधरी ने कुछ बीसी के संबंध मंे शिकायत प्राप्त होने का मामला उठाया। इस पर ग्रामीण इलाकांे मंे बैंकर्स की ओर से नियुक्त किए गए बैंक प्रतिनिधियांे की पर्याप्त मोनेटरिंग करने के निर्देश दिए गए।
रूपे कार्ड का अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करें: शर्मा
बाडमेर
विभिन्न बैंकांे की ओर से जारी किए रूपे कार्ड का समय पर वितरण सुनिश्चित करने के साथ उनके बारे मंे अधिकाधिक प्रचार-प्रसार कराया जाए। जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा ने जिला मुख्यालय पर बैंकर्स की बैठक के दौरान यह बात कही।

जिला कलक्टर शर्मा ने कहा कि बैंकर्स यह सुनिश्चित करें कि संबंधित बैंक शाखाआंे मंे रूपे कार्डाें का वितरण हो। इसके अलावा रूपे कार्ड को एक्टिव करने की प्रक्रिया के बारे मंे भी आमजन को जानकारी दी जाए। इसके लिए वित्तीय साक्षरता शिविरांे का भी आयोजन किया जा सकता है। जिला कलक्टर ने कहा कि कई बार लोग रूपे कार्ड प्राप्त करके अपने घर मंे रख लेते है। जानकारी के अभाव मंे वे लेन-देन नहीं करते, ऐसे मंे रूपे कार्ड एक्टिव नहीं हो पाता। उन्हांेने कहा कि आमजन को रूपे कार्ड को एक्टिव करने एवं माइक्रो एटीएम से भुगतान संबंधित प्रक्रिया के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी जाए। जिला कलक्टर ने इस दौरान बैंकर्स को भामाशाह योजना के तहत बकाया खाते खोलने एवं भामाशाह फालोअप शिविर के दौरान बचे हुए लोगांे के खाते खोलने के निर्देश दिए। इस दौरान आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के सहायक निदेशक हीरालाल मालू ने बताया कि जनवरी माह से भामाशाह कार्ड सीडिंग एवं नए कार्ड बनाने के लिए ग्राम पंचायतवार शिविर लगाए जाएंगे। इन शिविरांे मंे जिला कलक्टर ने बैंकर्स को अपने प्रतिनिधि की उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top