पी एम मोदी करेंगे ‘रिसर्जेंट राजस्थान पार्टनरशिप समिट-2015’ का उद्घाटन
जयपुर।
समावेशी विकास की प्रक्रिया को गति देने के लिए आवश्यक है कि निवेशकों, सरकार और विशेषज्ञों में विचार विमर्श निरन्तर जारी रहे। इसी उद्देश्य से राजस्थान सरकार अगले माह 19आैर 20 नवम्बर को दो दिवसीय रिसर्जेंट राजस्थान पार्टनरशिप समिट 2015 का आयोजन कर रही है।
समिट में आयोजित 8 सेक्टर और 2 कंट्री स्पेसिफिक सैशन्स में प्रमुख निवेशक, उद्यमी, विशेषज्ञ और उच्चाधिकारी विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे।
सम्मेलन के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा निवेशकों को दी जा रही रियायतों एवं सुविधाओं की जानकारी दी जायेगी।
पीएम नरेन्द्र मोदी करेगें उदघाटन
शिखर सम्मेलन का उद्घाटन 19 नवम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। सम्मेलन में नितिन गडकरी, निर्मला सीथारमन, कलराज मिश्र और राजीव प्रताप रूडी सहित अनेक केन्द्रीय मंत्री भाग लेंगे। सम्मेलन के प्रथम दिन सेक्टर्स स्पेसिफिक आठ और कंट्री स्पेसिफिक दो सत्र आयोजित किये जायेंगे। कंट्री फोकस सत्रों में जापान और सिंगापुर के संबंध में विशेष चर्चा होगी।
इसके अतिरिक्त सेक्टोरल सैशन्स में स्मार्ट सिटी एवं हाईवे मेक इन इंडिया: स्किलिंग राजस्थान लेवरेजिंग टूरिज्म फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट, ऑटो और ईएसडीएम सेक्टर,एग्रीकल्चर एवं फूड प्रोसेसिंग,रेगुलेटरी रिफोर्म्स, सस्टेनेबल माइनिंग और ट्रांसफर्मिंग हेल्थकेयर डिलीवरी इन राजस्थान विषयों पर विचार विमर्श होगा।

ये दिग्गज भी आएगे
इस दो दिवसीय सम्मेलन में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े दिग्गजो में किरण मजूमदार शॉ, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के अरुण नंदा, मणिपाल ग्लोबल के मोहनदास पाई, हीरो मोटो कॉर्प के सुनील कांत मुंजाल, डीसीएम श्रीराम के अजय एस. श्रीराम, टीम लीज के मनीष सभरवाल, एनआईआईटी के विजय के. थडाणी, अपोलो हास्पिटल्स की शोबाना कामिनेनी, सेंट गोबेन ग्लास इंडिया के एस. एन. आइजनहावर, वेदान्ता रिसोर्सेज के टॉम अल्बेनीज, फील्ड फ्रेश फूड्स के राकेश भारती मित्तल, जेसीबी इंडिया लि. के विपिन सोंधी एवं होंडा कार्स के कतसुशी इनोए आदि सम्मेलन को पहले दिन संबोधित करेंगे।

शिखर सम्मेलन का दूसरा दिन मझौले, लघु और सूक्ष्म उद्योगों को समर्पित होगा। एमएसएमई: ग्रोथ इंजन फॉर मेक इन इंडिया - अपोरच्यूनिटीज एंड चेलेन्जेज नामक एक विशेष सत्र में भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के सचिव, डॉ अनूप के. पुजारी मुख्य वक्ता होंगे। इसमें राजस्थान में निवेश के तुलनात्मक लाभ, राजस्थान से हस्तशिल्प निर्यात की विपुल सम्भावनायें एवं मार्केटिंग, आदि विषयों पर भी सत्रों का आयोजन किया जायेगा।
राज्य सरकार द्वारा आयोजित यह दो दिवसीय रिसर्जेट राजस्थान पार्टनरशिप समिट सीतापुरा में जयपुर एक्जीबीशन एंड कन्वेन्शन सेंटर (जेईसीसी) में आयोजित किया जायेगा। पार्टनरशिप समिट में भाग लेने के लिए रजिस्टे्रशन का कार्य पहले से ही शुरू कर दिया गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top