मानव जीवन एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए अधिक से अधिक पेड लगाएं - जिला कलक्टर शर्मा

धरती का श्रंृगार है पेड-पौधे, युवा बढ-चढ कर पौधारोपण में अपनी सहभागिता दर्ज करावें - जैसलमेर विधायक भाटी
जैसलमेर
जिला कलक्टर विष्वमोहन शर्मा ने कहा कि मानव जीवन के संचरण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए पेड-पौधों की बहुत अधिक महत्ता है इसलिए हमें अधिक से अधिक पौधारोपण करके इस पृथ्वी को और अधिक हरी-भरी करनी है। उन्होंने कहा कि वन महोत्सव का उद्वेष्य आमजन में पौधों के प्रति जागृति पैदा करना है। उन्होंने कहा कि आज के दिन युवाओं को यह संकल्प लेना है कि वे पौधारोपण अधिक से अधिक करके उसका संरक्षण करेंगे एवं धरती के श्रृंगार वन को और अधिक बढावा देंगे।
जिला कलक्टर विष्वमोहन षर्मा शनिवार को वन विभाग के तत्वावधान में केन्द्रीय विधालय एयरफोर्स में आयोजित जिला स्तरीय वन महोत्सव समारोह को संबोधित करते हुए यह उद्गार व्यक्त किए। समारोह की अध्यक्षता जैसलमेर विधायक छोटूसिंह भाटी ने की एवं जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. राजीव पचार, जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, नगरपरिषद जैसलमेर की सभापति श्रीमती कविता खत्री, मुख्य प्रषासनिक अधिकारी एयरफोर्स जी.एन.वी. विजय आनन्द, मुख्य कार्यकारी अधिकारी बलदेवसिंह उज्जवल, उपवनसंरक्षक अनूप के.आर., मुकुट बिहारी माथुर, डाॅ. ख्याति माथुर, वरिष्ठ साहित्यकार दीनदयाल ओझा, षिक्षाविद् बालकृष्ण जोषी विषिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
जिला कलक्टर शर्मा ने कहा कि मनुष्य द्वारा प्रकृति के साथ खिलवाड करके वनो का हृास किया है उसके कारण पर्यावरण दूषित होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदूषित पर्यावरण के कारण पृथ्वी का तापमान भी बढा है एवं मानव जीवन के लिए भी यह घातक है। इसलिए हमें वनो के प्रति अभी से ही सजग एवं सचेत रहना होगा एवं उनके संरक्षण के लिए विषेष कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को शुद्व रखने के लिए हमें अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना होगा।
जैसलमेर विधायक छोटूसिंह भाटी ने वन महोत्सव पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि मरूस्थलीय जैसलमेर जिले में वृक्षारोपण का बहुत अधिक महत्व है एवं यहां पर अभी भी अधिक से अधिक पौधे लगाने की विपुल संभावनाएं है। उन्होंने कहा कि इस रेतीले समुंदर को हमें वनो से आच्छादित करने का आज के दिन संकल्प लेना है एवं युवाओं को यह मन में ठाननी है कि वे एक पौधा प्रतिवर्ष अवष्य ही लगाएंगे। उन्होंने कहा कि वन धरती का श्रृंगार है एवं उस श्रृंगार को हम नियमित रूप से तभी रख पाएंगे जब हम प्रतिवर्ष पौधारोपण करेंगे। उन्होंने कहा कि अब जैसलमेर में पानी की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता भी है इसलिए वन विभाग को भी वृक्षारोपण करने में किसी प्रकार की कसर नहीं छोडनी है।

जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. राजीव पचार ने कहा कि वृक्षों के दोहन एवं कटाई के कारण पृथ्वी का पर्यावरण प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए हमें वृक्षारोपण करने का संकल्प लेना होगा तभी हम हमारी युवा पीढी को शुद्व पर्यावरण दे पाएंगे। उन्होंने कहा कि युवा पीढी को पेडों को जीवन का अंग बनाना होगा एवं यह प्रेरणा लेनी होगी कि वे एक पौधा प्रतिवर्ष अवष्य ही लगाएंगे।

जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल ने कहा कि जैसलमेर पूर्व में मरूस्थलीय रहा है लेकिन वन विभाग एवं अन्य प्रयासो से जैसलमेर में भी काफी संख्या में वृक्षारोपण किया गया है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष बरसात भी अच्छी हुई है इसलिए हमें अधिक से अधिक पौधे लगाने है। उन्होंने केन्द्रीय विधालय के विधार्थियों को कहा कि वे अपने घरों में भी एक-एक पौधा अवष्य लगावें।

मुख्य प्रषासनिक अधिकारी एयरफोर्स विजयआनंद ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि वन विभाग में जिला स्तरीय वन महोत्सव 2015 को केन्द्रीय विधालय में आयोजन किया है उसके लिए वे बधाई के पात्र है। उन्होंने विधालय परिवार को कहा कि जितने पौधे आज वन महोत्सव के दौरान लगाए है उनका पूरा रख-रखाव करेंगे एवं उन्हें नियमित रूप से जल से सींचेंगे।

वरिष्ठ साहित्यकार दीनदयाल ओझा ने कहा कि प्राचीनकाल से ही अन्न, जल व वन का मानव जीवन में बहुत ही अधिक महत्व रहा है एवं वे सदैव ही मानव रक्षक रहे है। उन्होंने कहा कि आज दूषित हो रहे पर्यावरण को बचाने के लिए भी पौधे ही एक ऐसा तत्व है जिससे हम अधिक से अधिक संख्या में लगाकर पर्यावरण को बचा सकते है।

उपवनसंरक्षक डीडीपी डाॅ. ख्याति माथुर ने वन महोत्सव के अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई दी एवं वन महोत्सव के महत्व के बारे में अवगत कराया। उन्होंने वन महोत्सव में पधारें सभी अतिथियों का हार्दिक आभार व्यक्त किया एवं वहीं एयरफोर्स के अधिकारियों एवं केन्द्रीय विधालय के प्राचार्य एवं उनकी पूरी टीम को भी इस कार्यक्रम में सहयोग देने के लिए हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर केन्द्रीय विधालय की नन्हीं-मुन्हीं छात्राओं द्वारा स्वागत नृत्य एवं बालिकाओं द्वारा स्वागत गीत के साथ ही पर्यावरण संरक्षण से संबंधित लघु नाट्य प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम के अवसर पर अतिथियों का हार्दिक स्वागत किया गया। कार्यक्रम में प्राचार्य सुमेरसिंह ने पूरा सहयोग प्रदान किया एवं कार्यक्रम का संचालन गरिमा गोयल ने किया। इस अवसर पर जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ ही एयरफोर्स के अधिकारी एवं विधालय परिवार के षिक्षक व विधार्थीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम में सहायक वन संरक्षक बी.एम. गुप्ता, गज्जा, क्षेत्रीय वन अधिकारी पंकज गुप्ता के साथ ही वन विभाग के अधिकारी एवं वनकर्मी उपस्थित थे।

केन्द्रीय विधालय में अतिथियों ने किया पौधारोपण

जिला स्तरीय वन महोत्सव के अवसर पर जिला कलक्टर विष्वमोहन शर्मा, जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. राजीव पचार, जैसलमेर विधायक छोटूसिंह भाटी, जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, नगरपरिषद सभापति श्रीमती कविता खत्री, मुख्य कार्यकारी अधिकारी बलदेवसिंह उज्जवल, मुख्य प्रषासनिक अधिकारी एयरफोर्स विजय आनन्द, वरिष्ठ साहित्यकार दीनदयाल ओझा, षिक्षाविद् बालकृष्ण जोषी, उपवनसंरक्षक अनूप के.आर., मुकुट बिहारी माथुर, डाॅ. ख्याति माथुर ने शीषम, नीम, सरेष, गुलमोहर इत्यादि के अपने हाथो से पौधे लगाए। इसके साथ ही वन महोत्सव में विधालय प्रांगण में लगभग 400 पौधे लगाए गए।

सर्किट हाउस में किया वृक्षारोपण

वन महोत्सव के अवसर पर जिला प्रषासन, वन विभाग एवं जैसलमेर विकास समिति के संयुक्त तत्वावधान में सर्किट हाउस जैसलमेर में पौधारोपण किया गया। इस अवसर पर जिला कलक्टर विष्वमोहन शर्मा, जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. राजीव पचार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी बलदेवसिंह उज्जवल, उपवनसंरक्षक डाॅ. ख्याति माथुर के साथ ही जिला स्तरीय अधिकारियों ने अपने हाथो से पौधारोपण किया। इस अवसर पर जिला कलक्टर ने सचिव जैसलमेर विकास समिति चंद्रप्रकाष व्यास को कहा कि वे इन पौधों का रख रखाव करें एवं इसमें खाली जगह में बगीचे को विकसित करावें।

इस अवसर पर गुलमोहन, शीषम, गुंदा, नीम, रोहिडा, खेजडी इत्यादि के लगभग 100 पौधे लगाए गए। इस दौरान उपखंड अधिकारी जयसिंह, तहसीलदार अमराराम, आयुक्त नगरपरिषद इंद्रसिंह राठौड, अधीक्षण अभियंता आईडब्ल्यूएमपी उम्मेदसिंह राव, जलदाय ओ.पी. व्यास, पीडब्ल्यूडी सी.एस. कल्ला, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी बी.एन. वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.आर. नायक, एएमई मेघवाल, रोजगार अधिकारी भवानीप्रताप चारण, खेल अधिकारी लक्ष्मणसिंह तंवर, विकास अधिकारी लादूराम विष्नोई के साथ ही अन्य अधिकारियों ने भी अपने हाथों से पौधे लगाए। बास्केटबाॅल अकादमी के प्रषिक्षक राकेष विष्नोई एवं अकादमी के खिलाडी छात्रों ने भी पौधारोपण लगाने में पूरा सहयोग किया।

अतिथियों ने किया पुस्तक का विमोचन

जिला स्तरीय वन महोत्सव के अवसर पर केन्द्रीय विधालय में आयोजित समारोह के दौरान उपवन संरक्षक डाॅ. ख्याति माथुर द्वारा लिखित ‘‘जैव विविधता एटलस’’ पुस्तक का विमोचन किया गया। अतिथियों ने डाॅ ख्याति माथुर द्वारा किए गए इस सराहनीय प्रयास की मुक्त कंठो से सराहना की एवं कहा कि यह पुस्तक जैसलमेर की वनस्पतियों एवं जंतुओं की जानकारी के लिए उपयोगी होगी। इस पुस्तक में 72 प्रजाति के वनस्पतियों तथा 149 प्रजाति के जंतु जो कि जैसलमेर जिले में पाए जाते है उनका विस्तृत विवरण मय फोटोग्राफर के संकलित किया गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top