बीकानेर ट्रोमा सेन्टर 25 जून से होगा प्रारंभ-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री
जयपुर।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि पीबीएम अस्पताल स्थित ट्रोमा सेन्टर मेंं प्रथम चरण में चिकित्सा सुविधाएं 25 जून से प्रारंभ कर दी जायेंगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही इस सेन्टर के शेष रहे कार्यों को चरणबद्घ रूप से पूरा किया जायेगा।
राठौड़ शनिवार को बीकानेर के ट्रोमा सेन्टर में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। बैठक में खाजूवाला विधायक डॉ.विश्वनाथ,संभागीय आयुक्त सुबीर कुमार,जिला कलक्टर पूनम,सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आर.ए.बम्ब,ट्रोमा सेन्टर के नोडल अधिकारी डॉ.बी.एल.खजोटिया, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय आचार्य सहित पीबीएम अस्पताल के विभिन्न विभागाध्यक्ष शामिल थे।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पीबीएम अस्पताल में विविध विकास कार्यों के लिए धन की कमी नहीं आने दी जायेगी। उन्होंने ट्रोमा सेन्टर को प्रारंभ करने के लिए आधारभूत सुविधाओं तथा चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ की उपलब्धता के बारे में तथ्यात्मक जानकारी ली और कहा कि यहां आवश्यकतानुसार स्टाफ को नियुक्त किया जायेगा। उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा के संयुक्त निदेशक को निर्देश दिए कि ट्रोमा सेन्टर के लिए 10 ओटी टेक्निशियन्स की तत्काल नियुक्ति की जाये तथा आवश्यकतानुसार यहां सेवानिवृत्त कार्मिकों को भी लगाया जा सकता है। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सेन्टर के लिए फील्ड से अतिरिक्त स्टाफ के रूप में निश्चेतक,शल्य चिकित्सक,नर्स व अन्य तकनीकी स्टाफ को नियुक्त किया जाए।
सेन्टर में हों सभी सुविधाएं-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने ट्रोमा सेन्टर में नगर विकास न्यास द्वारा शेष रहे निर्माण कार्यों को तत्काल पूरा करवाने के निर्देश देते हुए कहा कि सेन्टर में एयर कन्डीशनर लगाने,मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर में कूलिंग सिस्टम कार्य पूर्ण करवाने,अग्नि शमन यंत्र लगवाने,विद्युत संबंधी शेष कार्य पूरे करने तथा पुख्ता पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने जिला कलक्टर पूनम को निर्देश दिए कि वे इस बात की मॉनिटरिंग करें कि आगामी एक सप्ताह तक न्यास अधिकारी प्रतिदिन इस सेन्टर की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि सेन्टर के बाहर खुले स्थान पर आकर्षक लॉन तैयार करवाया जाये व यहां पेड़-पौधे भी लगाए जायें। प्राचार्य डॉ.बम्ब ने मंत्री को अवगत कराया कि ट्रोमा सेन्टर के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक, रैजिडेन्ट डॉक्टर, रेडियोग्राफर, लेब व ओ.टी. टेक्निशियन, कम्प्यूटर ऑपरेटर्स ,ऑक्सीजन प्लान्टर, सफाई कर्मी व सुरक्षा प्रहरियों की आवश्यकता रहेगी। इस पर चिकित्सा मंत्री ने कहा कि इस सेन्टर को सुचारू रूप से चलाने के लिए सभी आवश्यक मानव संसाधन उपलब्ध कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि जनसहभागिता योजना के तहत दानदाताओं द्वारा दी गई धन राशि का सदुपयोग हो,इस बात का पूरा ख्याल रखा जाए।
साफ-सुथरा रहे अस्पताल-राठौड़ ने कॉलेज प्राचार्य को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अस्पताल परिसर में सफाई व्यवस्था दुरूस्त रहे तथा चिकित्सक समय पर अस्पताल में आएं। साथ ही अस्पताल में नि:शुल्क दवाओं का पर्याप्त भण्डारण रहे। उन्होंने बताया कि पीबीएम अस्पताल में आवश्यकतानुसार चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टाफ नियुक्त किया जा रहा है। 
प्रथम चरण में ट्रोमा सेन्टर में उपलब्ध सुविधाएं-प्रथम चरण में इस सेन्टर में ऑर्थोपेडिक्स की ओ.पी.डी.,फ्रेक्चर रिडक्शन के लिए प्लास्टर रूम, डे्रंिसंग रूम,डिजिटल एक्स-रे तथा दवा वितरण केन्द्र की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी।
शेष चरणों में न्यूरो सर्जरी विभाग की इस सेन्टर में शिफ्टिंग आई.सी.यू.,कैज्युल्टी,दो आपातकालीन ऑपरेशन थियेटर,पुरूष व जनाना वार्ड ,पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड,शोध,प्रशिक्षण व अध्यापन कार्य,सभी विभागों से इस सेन्टर की ऑन लाइन कनेक्टिविटी आदि सुविधाएं उपलब्ध होंगी।
स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना प्राथमिकता-संभागीय आयुक्त सुबीर कुमार ने कहा कि सम्पूर्ण पीबीएम अस्पताल में रोगियों व उनके परिजनों को शुद्घ पेयजल मिले,यह सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल में स्वच्छ पेयजल के लिए यू.वी.प्लान्ट लगाए जायेंगे,जिससे दूषित पानी जनित रोगों से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि ये प्लान्ट आवश्यकतानुसार बी.ओ.एम.आधार पर भी लगाए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि मेडिकल रिलीफ सोसायटी फण्ड द्वारा भी आवश्यक धन राशि उपलब्ध कराई जायेगी। जिला कलक्टर पूनम ने कहा कि नगर विकास न्यास के अधिकारी व अस्पताल प्रशासन समन्वय के साथ कार्य कर,व्यवस्थाओं में सुधार करें तथा शेष रहे निर्माण कार्यों को समयबद्घ रूप से पूर्ण करें।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) श्री अजय कुमार पाराशर,उपखण्ड अधिकारी श्री ओम प्रकाश,पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ.के.के.वर्मा,संयुक्त निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं डॉ.एच.आर.बरार,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.देवेन्द्र चौधरी,डॉ.वीर बहादुर सहित चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने शनिवार को देशनोक स्थित करणी माता मंदिर में मां करणी के दर्शन किए और प्रदेश की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। इस अवसर पर मंदिर प्रन्यास द्वारा उन्हें माता का चित्र व साहित्य भेंट किया गया।
नोखा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने नोखा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया । उन्होंने केन्द्र प्रभारी को निर्देश दिए यहां साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि केन्द्र पर नि:शुल्क दवाएं रोगियों को उपलब्ध हों। उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र में बंद पड़े एक कमरे को देख कर, पूछा कि यह कक्ष बंद क्यों पड़ा है ? इस पर उन्हें अवगत कराया गया कि इस कमरे में पुराना घी पड़ा है,जिसे नष्ट करवाने के लिए कोर्ट में आवेदन किया हुआ है। न्यायालय से स्वीकृति मिलने पर इस घी को नष्ट करने की कार्यवाही की जायेगी।
इस मौके पर स्थानीय नागरिकों ने चिकित्सा मंत्री से केन्द्र पर महिला चिकित्सक नियुक्त करने की मांग की । इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.देवेन्द्र चौधरी भी उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top