आखिर कब तक जनता की अनेदखी करता रहेगा पचपदरा पीएचईडी का एईएन
कोडूका के जांगूओं की ढाणी में दो सप्ताह से हैंडपम्प खराब

ग्रामीणों के सामने पेयजल संकट, गाये प्यास के मारे खा रही हैं दर-दर की ठोकरे
बंशी चौधरी 
बाड़मेर/गीड़ा। जिले के बालोतरा उपखण्ड के पाटोदी पंचायत समिति क्षेत्र में जलदाय विभाग की लापरवाही के चलते दो दर्जन से अधिक हैण्डपम्प खराब पड़े हैं। लेकिन पचपदरा के एईएन तो अपने आप को चीफ इंजीनियर से कम नही समझते जिसके चलते यहां फरियाद लेकर जाने वाले लोगो को दो टूक शब्दो में जवाब देकर रवाना कर दिया जाता हैं या फिर फोन करने पर तो इस अभियंता द्वारा यहां तक कह दिया जाता हैं कि हमारा विभाग सिर्फ आपके एक हैंडपम्प के लिए ही हैं? 
जब ग्रामीणों द्वारा पेयजल की समस्या को लेकर विनती की जाती हैं तो यह साहब और रौब झाडऩे से नही चुकते हैं कि विभाग के पास पहले से कई काम बकाया पड़े हैं पहले वो करे या फिर आपकी समस्या हल करें, जबकि ग्रामीण पेयजल की किल्लत से जूंझ रहे हैं और गर्मी के मौसम में पशुओं को पानी कैसे पिलायेंगे यहां तो मनुष्य को हैंडपम्प को दुरस्त कर पानी पिलाने में इन अधिकारियों को बहाने बाजी के सिवाय कुछ सुझ नही रहा हैं। ग्रामीणों ने शीघ्र क्षेत्र की समस्या खराब हैंडपम्प को ठीक नही करने पर जिला कलेक्टर एवं राज्य सरकार को अवगत करवाने के लिए प्रतिनिधी मण्डल भेजने का मानस बना लिया हैं। राज्य सरकार कई तरह की योजनाएं बनाकर जनता की सेवा में हाजीर रहने के ढिंढोरे पीट रही हैं और सरकार के ये अफसर इन योजनाओं को सफल बनाने पर प्रश्र चिह्ल लगा रहे हैं। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top