"देश मे प्रतिभाएं अपार, सुविधाओ की दरकार" : पूनिया 
बाड़मेर।
कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल विनर व इंटरनेशनल डिस्कस थ्रो प्लेयर कृष्णा पूनिया पत्रकारों से बातचीत में कहा कि देश मे खेल प्रतिभाओ की कमी नहीं है, लेकिन जब उन्हे माकूल सुविधाएं व अवसर मिलेगे तो वे देश के लिए पदक भी जीतेगे। 
बाड़मेर पहुंची पूनिया ने रविवार को श्री वीर तेजाजी टाईगर फोर्स बाड़मेर की ओर आयोजित खिलाडियो का सम्मान समारोह में 2014 के पा्रथमिक व माध्यमिक शिक्षा विभाग के वे नियमित विधार्थी जिन्होने शिक्षा विभाग दवारा आयेजित खेलो में राज्य स्तर पर प्रथम दितीय तृतीय स्थान अथवा राष्ट्रीय स्तर पर चयनित खिलाडियो का  भगवान महावीर टाउन हाॅल मे सम्मान किया गया।  आयोजन समिति के डा. लक्ष्मीनारायण जोशी ने बताया कि नियमित अथवा  राष्ट्रीय, अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की विशेष प्रतिभाव तथा खेल क्षेत्र की हस्तियो का सम्मान किया गया। 
 पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होने नए साल की अपनी आगामी योजनाओं के बारे में भी जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि उनका ध्यान 2016 में होने वाले ओलम्पिक पर है। 
वह 2015 में ओलम्पिक के लिए चोटों से उबर कर पूरी तरह से फीट होना चाहती है, ताकि आगामी ओलम्पिक में अच्छा प्रदर्शन कर सके। उन्होंने कहा कि देश में खेलों की स्थिति में सुधार के लिए काफी प्रयास करने होंगे। उन्होने निराशा जताई कि खिलाडियों के साथ लगातार हो रही राजनीति से उनका खेल चौपट हो रहा है। उन्होंने देश में खेल प्रेम को बढ़ाने के लिए खेलों को राजनीति से दूर रखे जाने की बात कही। 

सपना हो गया पूरा
बाड़मेर पहुचने से पूर्व शनिवार को कृष्णा जैसलमेर पहुंची और कृष्णा ने कहा कि उनका जैसलमेर देखने का सपना काफी पुराना है। इस बार बाड़मेर का कार्यक्रम बना तो उन्होंने जैसलमेर भी देखने का निश्चय किया और वह जैसलमेर आ गई। उन्होंने कहा कि जैसलमेर भ्रमण के बाद वे बाड़मेर जाएंगी। 

कलात्मक सुंदरता से अभिभूत 
अपने परिवार के सदस्यो के साथ जैसलमेर आई कृष्णा पूनिया ने यहां के पर्यटन स्थलो का भ्रमण किया। सोनार दुर्ग सहित विभिन्न पर्यटन स्थलो के भ्रमण के दौरान वे यहां की कलात्मक सुंदरता व बारीक नक्काशी कार्य से अभिभूत नजर आई। यहां उन्होने फोटो भी खिंचवाए। (का.सं.)

जताई आपत्ति 
पूनिया ने केन्द्र सरकार की ओर से ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर राजीव गांधी सेवा केन्द्रों का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी की नाम से करने पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को नाम बदलने की राजनीति करने की बजाए नई योजनाएं शुरू करने में विश्वास रखना चाहिए। बातचीत के दौरान उन्होने देशवासियो को नव वर्ष की शुभकामनाएं दी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top