कुत्बे आलमशाह जीलानी का उर्स आज, आस्ताने पर पहुंचने लगे जायरीन

बाड़मेर 
हजरत पीर सैय्यद कुत्बे आलमशाह जीलानी का सालाना उर्स मुबारक सूजा शरीफ में आज से शुरू होगा। आज ही दारूल उलूम फैजे सिद्धीकिया संस्था का 137वां सालाला इजलास भी मनाया जाएगा। उर्स की तैयारियां कमेटी द्वारा पूर्ण की जा चुकी हैं। उर्स में मुल्क के कई नामचीन धार्मिक विद्वान अपने-अपने बयानात पेश करेंगे एवं स्थानीय सांसद, विधायकगण व कई जनप्रतिनिधि भाग लेंगे। इस मौके पर सांसद कर्नल सोनाराम चैधरी दरगाह में चादर शरीफ व फूल पेश करेंगे।
दारूल उलूम फैजे सिद्धीकिया संस्था का सचिव अब्दुल रशीद ने बताया कि पश्चिमी राजस्थान का प्रसिद्ध मेला उर्स पीर सैय्यद कुत्बे आलमशाह जीलानी का आज शनिवार से होगा एवं इसका समापन कल रविवार 22 जून को सुबह 8 बजे होगा।
संस्था सरबराहे आला पीर सैय्यद गुलाम हुसैन शाह जीलानी धर्मगुरू के मुताबिक जलसा में कई नामचीन हस्तियां सैय्यद मोहम्मद कासिम अशरफ अशरफी जीलानी उर्फ कासिम बाबा, अल्लामा अल्हाज अब्दुल हफीज मुबारकपुर, सैय्यद मोहम्मद कलीम अशरफी जीलानी जाएस शरीफ, अल्लामा अल्हाज मोहम्मद अहमद मिस्बाही, मुफ्ती मौलाना निजामुद्दीन, मौलाना सैय्यद मोहम्मद अमीन कच्छ इत्यादि शिरकत करेंगे। इनके अलावा मुख्य वक्ता मुफ्ती फैजुल हक आजमी, मौलाना मुख्तारूल हसन नूरी रिज्वी व मौलाना मुबारक हुसैन मिस्बाही अपने-अपने बयानात से अवाम को नवाजेंगे। इससे पूर्व उलमाऐ किराम का सूजा शरीफ पहुंचने पर स्वागत किया जाएगा।
सचिव अब्दुल रशीद ने बताया कि उर्स के कार्यक्रम का आगाज शनिवार दोपहर 3 बजे खत्मे बुखारी शरीफ से होगा। इसके बाद मदरसों के छात्रों की प्रतियोगिताएं होंगी। बाद नमाजे ईसा मुख्य वक्ताओं की तकरीर होगी।
इसी दिन शाम 6 बजे स्थानीय सांसद-विधायक अभिनन्दन समारोह व तालीमी कांफ्रेंस आयोजित होगी। जिसमें मुख्य अतिथि सांसद कर्नल सोनाराम चैधरी, अध्यक्ष चैहटन विधायक तरूण राय कागा, विशिष्ट अतिथि सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल व पूर्व अध्यक्ष राजस्थान मदरसा बोर्ड हिदायत खां धोलिया सहित जिले के कई जनप्रतिनिधि व गणमान्य लोग शामिल होंगे।
रविवार 22 जून को सुबह 6 बजे दरगाह शरीफ पर चादर मुबारक व गुलपोशी होगी। तत्पश्चात् जलसे का समापन होगा। जायरीनों के लिए खाने-पीपे की निःशुल्क व्यवस्था होगी। गर्मी के मौसम के देखते हुए कमेटी द्वारा भव्य शामियाना, ठण्डे पानी की अलग-अलग जगहों पर व्यवस्था की जाएगी। जामेआ सिद्धीकिया के इस वर्ष 11 आलिम-फाजिल, 11 कुर्रा व 2 हुफ्फाज को सनद दी जाएगी। स्थानीय गुलामाने मुस्तफा कमेटी द्वारा दरगाह परिसर को आकर्षक रूप से सजाया गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top