manjhi lalu sjकल होने वाले विश्वास मत से पहले राष्ट्रीय जनता दल ने जदयू सरकार को किया मजबूत
पटना। 
विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने आज गुरुवार (22 मई) को घोषणा की कि वह बिहार में जीतन राम मांझी के नेतृत्व वाली नई सरकार का समर्थन करेगा। घोषणा राजद विधायक दल के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने यहां की और यह कल होने वाले विश्वास मत से पहले नई सरकार के लिए एक बढ़त के रूप में है।
राज्य में लोकसभा चुनावों में हार के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने ही मांझी को पद के लिए नामांकित किया। मांझी ने कल विश्वास मत के लिए एक विशेष सत्र बुलाया है। राज्य की 237 सदस्यीय विधानसभा में राजद के 21 विधायक हैं। विधानसभा में कल विश्वास मत हासिल करने जा रही मांझी सरकार को राजद के समर्थन से और अधिक बल मिलेगा।
सिद्दीकी ने कहा कि हमारा समर्थन जदयू सरकार के अस्तित्व के लिए निर्णायक साबित नहीं होगा, लेकिन उनकी पार्टी सामाजिक न्याय का समर्थन करती रही है इसलिए मुख्यमंत्री के एक दलित समुदाय में सबसे कमजोर तबके से आने के कारण हम लोगों ने यह निर्णय लिया।
दरभंगा जिले के अलीनगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सिद्दीकी ने कहा कि हमारा समर्थन भाजपा और आरएसएस शक्तियों को भी पराजित करेगा। बिहार विधानसभा में मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा के कुल 88 विधायक हैं। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि यह समर्थन अभी के लिए है और भविष्य में हम गुण-दोष के आधार पर इस बारे में निर्णय लेंगे।
वर्तमान में बिहार विधानसभा में सदन के अध्यक्ष सहित जदयू के 117 विधायक, भाजपा के 88, राजद के 21, कांग्रेस के चार, भाकपा के एक और छह निर्दलीय विधायक हैं। कांग्रेस के चार, भाकपा के एक और दो निर्दलीय विधायकों ने जदयू सरकार को समर्थन देने का पत्र पूर्व में ही राज्यपाल को सौंप दिया था।
243 सदस्यीय विधानसभा के छह सदस्यों जिनमें से राजद के तीन, भाजपा के दो और जदयू के एक कैमूर जिला के मोहनिया विधानसभा क्षेत्र से जदयू विधायक छेदी पासवान के पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के खिलाफ चुनाव लड़ने से इस्तीफा दे देने की वजह से सदन की सदस्यता अब 237 रह गई है।
राजद के जदयू को समर्थन देने की घोषणा ने लोकसभा चुनाव में भाजपा की अप्रत्याशित जीत को देखते हुए प्रदेश में खुद के धर्मनिरपेक्ष होने का दावा करने वाली शक्तियों के एकजुट होने की अटकलें शुरू हो गई हैं।
बिहार की 40 लोकसभा सीटों में भाजपा ने 22 सीटों, उसकी सहयोगी पार्टी लोजपा ने 6 और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने तीन सीटों पर विजय हासिल की है, जबकि राजद को केवल चार सीटों, कांग्रेस और जदयू को दो-दो सीटों और राकांपा को एक सीट ही हासिल हो पाई।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top