मोर के शिकार पर दो गिरफ्तार 
सिणधरी। 
क्षेत्र के गादेसरा गांव स्थित मेघवालों की ढाणी के निकट शनिवार को ग्रामीणों ने राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार करते दो जनों को मौके पर दबोच लिया। उन्होंने वन विभाग तहसीलदार एवं पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच सात मरे हुए मोरों को जब्त कर मोटरसाइकिल समेत दोनों आरोपितों को गिरफ्तार किया।

पुलिस के अनुसार उनसे पूछताछ में पता चला कि सिणधरी निवासी बुधाराम पुत्र मानाराम व पादरू निवासी खीमाराम पुत्र गणेशाराम जहरीला चुगा डालकर मोरों का शिकार कर सिणधरी कस्बे समेत बालोतरा में बेचते हैं। गादेसरा में स्थित मेघवालों की ढाणी के पास केर की झाड़ी में बैठे मोरों के झुण्ड पर शनिवार सवेरे बुधाराम एवं खीमाराम ने धावा बोला तथा मोरों को जहरीला चुगा देकर बेहोश होने पर गर्दन मरोड़कर प्लास्टिक के कट्टे में डाल दिया। ग्रामीणों ने अनजान युवकों को देख पीछा किया तथा उनके कब्जे में मोर देखकर दंग रह गए। आरोपितों के पास एक बिना नंबर की मोटरसाइकिल भी मिली है जो शिकार सप्लाई में काम में लेते थे।

करवाया पोस्टमार्टम
सातोे मोरों का पशु चिकित्सक हरिहर वैद्य पांयला कला, डॉ. दिनेश हटवार भेडाना एवं डॉ. दिनेश जांगिड़ भाखरपुरा ने पोस्टमार्टम किया। मरे हुए सभी सात मोर नर थे।

सिणधरी में पहला मामला
एक साथ सात मोरों का शिकार करने के आरोप में गिरफ्तारी एवं बरामदगी पहला मामला है इसलिए वन विभाग को प्राथमिकी दर्ज करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। इस दौरान डीएफओ एसआर यादव, एसीएफओ सुपोंग शशि, रेंजर प्रकाश सिंह, सिणधरी तहसीलदार अशोक कुमार पटेल, पटवारी सवाराम, पुलिस एवं वन विभाग का जाब्ता मौके पर पहंुचा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top