धोरीमन्ना में पानी यात्रा से दिया जल संरक्षण का संदेश 
बच्चों और अध्यापकों ने जल संरक्षण की ली शपथ
बाड़मेरः- 
अत्यधिक दोहन ने नीचे जमीन को खोखला कर दिया है हमें जमीन रूपी बैंक में जल रूपी धन को जमा भी करना है वर्ना जिस दिन खाता खाली हो गया तो जीवन संकट में पड़ जायेगा। ये उद्दगार थे ग्रामपंचायत धोरीमन्ना केे संरपच सुखराम विश्नोई के जो ब्लॉक स्तरीय पानी या़त्रा से पूर्व आम सभा को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होने कहा कि फाल्गुन का महीना है होली का त्योहार है पर हमें कोशिश करनी है कि कम से कम पानी व्यर्थ बहे उन्होने कहा कि आज जरूरत है कम जल खपत की खेती की जाये। रोजाना प्रयोग में भी जल बचत और जल प्रबन्धन को अपनाया जाय। राज्य जल संसाधन आयोजन विभाग एवं यूरोपियन यूनियन के आर्थिक सहयोग से राज्य जल नीति के क्रियान्वयन एवं एकीकृत जल संसाधन प्रबन्धन की तरफ आम जन में जागरूकता का प्रचार प्रसार हो और राज्य जल नीति के प्रमुख घटक-जल बचत, संग्रहण, पुनर्भरण, पुनःचक्रण इत्यादि को लागू करवाने के उद्देश्य से गुरूवार 28 फरवरी 2013 को धोरीमन्न्ना में पानी यात्रा का आयोजन किया गया। जिसका आगाज ग्राम पंचायत धोरीमन्ना के प्रांगण से हुआ। यात्रा को संरपंच श्री सुखाराम विश्नोई ने हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया।
कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सूचना शिक्षा एवं संचार कार्यक्रम के संभागीय सह समन्वयक चन्द्रप्रकाश व्यास ने बताया कि पानी यात्रा से पूर्व ग्राम पंचायत भवन क्रे सभा भवन में ग्राम व ब्लॉक के आम और प्रबुद्ध जनों के साथ सभा का आयोजन किया गया। सभा को सम्बोद्धित करते हुए कार्यक्रम के संभाग समन्वयक मुकेश द्विवेदी ने जोधपुर संभाग में चलाए जा रहे कार्यक्रम के उद्देश्यों की जानकारी दी साथ ही बताया कि जब तक हम पुरखों की दी अमूल्य सौगात इन नाडी,तालाब,पोखर, कुऐं, बेरीओं,जोहड़ेा की समुचित देखभाल नहीं करेगें जल संरक्षण ओर जल प्रबन्धन को नहीं अपनायेगें तो निश्चित ही हमारे कल की सुरक्षा की जरा भी गांरन्टी नहीं हेै। क्यो कि जल हैे तो कल हेै ये सार्वभौमिक सत्य है जिसे हमें आज नहीं तो कल मानना ही पड़़ेगा। कार्यक्रम में ब्लॉक समन्वयक नेमीचन्द सोलंकी ने बताया कि श्री हरिकृष्ण शिक्षा एवं सेवा समिति, स्पेक्ट्रा संस्थान अलवर तथा स्मृति संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में जोधपुर संभाग में आईईसी गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है। राज्यव्यापी इन गतिविधियों को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में राजस्थान के 11 जिलों में चलाया जा रहा है। जिसमें हमारे जोधपुर संभांग के छः जिले भी शामिल किये गये है। उद्बोधन में कहा कि हमें वर्षा जल को अधिक से अधिक संरक्षण करना चाहिये, तथा भूजल के अति दोहन को रोकना चाहीये। आम जन में पानी के बचत एवं संवंर्धन की दिशा में एक सकारात्मक सोच का निर्माण हो पानी की एक-एक बंूद की कीमत क® समझना आज की सबसे बड़ी आवश्य्ाकता है और इसी बात क® आम अवाम तक पहुचाने के उद्देश्य से यह जल जागृति रैली पानी यात्रा का आयोजन किया गया है। सूचना शिक्षा ओैर संचार कार्यक्रम के ब्लॉक समन्वयक हरदेव पंवार ने बताया कि पानी यात्रा में सरपंच महोदय एवं प्रबुद्ध जनो के साथ 50 विद्यार्थीयों ने भाग लिया उन्होने बताया कि जल संरक्षण के नारे लिखे तख्तियां लिये छात्र जब शहर के मुख्य मार्गो से जल संरक्षण के नारे देते हुए निकले तो आमजन में चर्चा और आकर्षण का विषय बन गये। यात्रा ग्राम स्तर पर भी ग्रामीणेंा से संम्पर्क किया पोस्टर व पेम्पलेट बाटें। जिला समन्वयक प्रेमसिह खोखर ने अन्त में सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top