सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश 
बाडमेर
जिले की समृद्ध लोक कला, संस्कृति एवं हस्तिशल्प को उजागार करने के उदृेश्य से 3 मार्च को महाबार में एक दिवसीय पर्यटन प्रोत्साहन सेमीनार का आयोजन किया जाएगा। मंगलवार को अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित की अध्यक्षता में हुई बैठक में सेमीनार के दौरान आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों के संबंध में व्यवस्थाओं की समीक्षा की गई। 
इस अवसर पर पुरोहित ने संबंधित अधिकारियों को सेमीनार आयोजन के संबंध में उन्हें सौपी गई सभी व्यवस्थाएं समय पर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होने संबंधित अधिकारियों को पर्याप्त छाया, पानी, रोशनी तथा बेरिकेटिंग की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही ग्रामीण हाट बाजार, टूर आपरेटर सेमीनार तथा फोटो प्रदशर्नी लगाने को कहा। उन्होने प्रोत्साहन सेमीनार का व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए है। उन्होने बताया कि जिले में ग्रामीण पर्यटन स्थलों के विकास एवं नये पर्यटन स्थलों को विकसित करने हेतु जिले के सरपंचों, ग्राम सेवकों, पटवारियों एवं कार्मिकों को अपने क्षेत्र के फोटोग्राफरों से धोरों, औंकलियों, तालर, डेर, बेवडों के विहगंम फोटोग्राफ, उनके आकार का विवरण, बाड़मेर से पहुंचने के साधन, जिला मुख्यालय से दूरी इत्यादि की जानकारी भिजवाने के निर्देश दिए गए है। इसी प्रकार हस्तिशल्पी, लोक कलाकारों के फोटोग्राफ एवं विवरण जो परम्परागत तरीके से अपनी कार्यसाधना/रियाज, प्रस्तुतिकरण कर रहे है, के अलावा आकशर्क दिखाई देने वाली ाणी समूहों का ब्यौरा भी भेजा जा सकता है। 
उन्होने बताया कि जैसलमेर, जोधपुर, नागौर, बीकानेर आदि जिलों में रेगिस्तान में बने कैम्प साईटों पर जाकर पर्यटक ठहरने है जहां पर लोक संगीत व कैम्प फायर के आयोजन होते है, जबकि ऐसे स्थलों की बाडमेर जिले में बहुतायत है। जिले में इस तरह की कैम्प साईटों को विकसित करने व पर्यटकों के लिए बाड़मेर जिले के पर्यटन एवं दशर्नीय स्थलों को उजागर करने के लिए यह फोटो प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। उन्होने बताया कि 3 मार्च को महाबार में दोपहर 2.00 बजे से सायं 7.00 बजे तक ग्रामीण हाट बाजार, चायनाश्ता की केन्टीन, टूर आपरेटर सेमीनार, फोटो प्रदशर्नी/प्रतियोगिता को आयोजन किया जाएगा। इसी दौरान महाबार के रेतीले धारों पर लोक कलाकारों द्वारा गैर नृत्य, पाबूजी की फड, अलगोजा वादन, मोर चंग वादन, घूमर नृत्य एवं लोक गीत आदि लोक कलाओं की प्रस्तुति दी जाएगी। इसमे पश्चात सायं 7.00 से 10.00 बजे तक सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा। अतिरिक्त जिला कलेक्टर पुरोहित ने दोपहर पश्चात महाबार पहुंच कार्यक्रम स्थल का अवलोकन किया तथा विभिन्न व्यवस्थाओं के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी शिव नखतदान बारहठ, उपखण्ड अधिकारी बाडमेर विनितासिंह, तहसीलदार बाडमेर बद्रीनारायण विश्नोई, विकास अधिकारी बाडमेर आईदानसिंह सोलंकी, सहायक लेखाधिकारी चूनाराम पूनड, होटल व्यवसायी पुरूशोतम खत्री सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top