गडकरी को दोबारा मिली अध्यक्ष की गद्दी 

सूरजकुंड। नितिन गडकरी के दूसरी बार भाजपा अध्यक्ष बनने का रास्ता साफ हो गया है। हरियाणा के सूरजकुंड में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के संविधान में संशोधन का प्रस्ताव पारित कर लिया गया। बैठक में पूर्व भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने पार्टी के संविधान में संशोधन करने का प्रस्ताव रखा,जिसे 1200 सदस्यों ने स्वीकार कर लिया। अभी तक भाजपा अध्यक्ष का कार्यकाल तीन साल का ही था। संविधान में संशोधन के बाद यह छह साल का हो जाएगा। 

पार्टी के संविधान की धारा 21 में संशोधन किया गया है। इसके मुताबिक कोई भी योग्य व्यक्ति दो बार अध्यक्ष बन सकता है। भाजपा नेता वेंकैया नायडू ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि कोई अपने आपम दोबारा अध्यक्ष बन सकता है। ऎसा प्रावधानों को सक्षम बनाने के लिए किया गया है। मई में मुंबई में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के संविधान में संशोधन करने के प्रस्ताव को स्वीकार किया गया था लेकिन उसे पारित नहीं किया गया था। 

गडकरी का कार्यकाल दिसंबर में समाप्त हो रहा था। पार्टी के संविधान में संशोधन का प्रस्ताव पारित होने के बाद अब वे दिसंबर 2015 तक पार्टी अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे। सूत्रों के मुताबिक गडकरी को दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने में संघ का हाथ है। संघ चाहता था कि गडकरी के नेतृत्व में ही भाजपा 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ें।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top