कूल रही "क्या सूपर कूल है हम"! 
मुंबई।
एक देश में जहां सेक्स को आज भी वर्जित माना जाता हैं। वहां केवल सेक्स पर फिल्म बनाने में फिल्म मेकर्स को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। अगर फिल्म में कॉमेडी का तड़का लगा हो तो फिल्म दर्शकों को अपनी ओर खिंचती हैं। ऎसा ही कुछ एकता कपूर ने कर दिखाया हैं इस सप्ताह रिलीज हुई अपनी फिल्म "क्या सुपर कूल हैं हम" के साथ। रितेश देशमुख और तुषार कपूर स्टारर यह फिल्म उन लोगों के लिए हैं जिन्हें एडल्ट जोक्स पसंद हैं और जो एडल्ट जोक्स को झेल पाएं।
स्टोरी
आदि (तुषार कपूर)और सिड(रितेश) दोनों भाई हैं। आदि फिल्मों में एक अच्छे ब्रेक के लिए इंतजार कर रहें हैं वहीं दूसरी ओर सिड एक डीजे हैं जो अपना टैलेंट गुजराती पार्टीज में बर्बाद कर रहें हैं लेकिन अपने स्वार्थ के लिए। आदि एक ज्योतिषी से मिलता हैं जो उसे बताता हैं कि उसका करियर और जीवन में वृद्धि होगी अगर वे अपने प्यार को ढ़ुढ़ लेगा लेकिन उसका नाम "एस" से शुरू होना चाहिए। 
वहीं एंट्री होती हैं "एस" नाम वाली सिमरन(नेहा शर्मा) की और आदि मिलता हैं सिमरन से। कहानी में टि्वस्ट तब आता है जब वह उसे प्रपोज करता हैं लेकिन सिमरन उसे यह बताती हैं कि वो लेसबियन हैं।
वहीं दूसरी ओर सिड मिलता हैं अनु (सारा जेन) से जो कि एक मॉडल हैं। सिड की सारा से मुलाकात एक फैशन शो के दौरान होती हैं जहां उसे अपने म्यूजिक टैलेंट को दिखाने का मौका मिलता हैं। शो के दौरान अनु को वॉर्ड्रोब मैलफंक्शन का शिकार होना पड़ जाता हैं और इसका कारण सिड होता हैं। अब आप सोच रहें होंगे कि सिड क्यों कारण बना, तो हम आपको बता दें कि शो के दौरान सिड की डिस्क अटक जाती हैं जिसके चलते अनु डिस्ट्रैक्ट हो कर वॉर्ड्रोब मैल्फंगक्शन की शिकार हो जाती हैं।
सिड को पता चलता है कि आदि ने सिमरन को डायमंड रिंग गिफ्ट कर दी जो कि उन्हें अपने कुत्ते सुकू्र के जरिए मिलती हैं तो आदि नाराज हो जाता हैं और सिमरन से हीरा वापस लेने के लिए वे उसके पीछे गोवा पहुंच जाते हैं।
दोनों पीछा करते गोवा पहुंच जाते हैं। अनु भी उनके साथ जाती हैं और उसी दौरान उसे सिड से प्यार हो जाता हैं। पता चलता हैं कि अनु और सिमरन अच्छे दोस्त हैं। वहीं सुक्रू गोवा के बीचीज के मजे लूटते नजर आता हैं। फिल्म की कहानी मजेदार कॉमेडी के साथ ही थोड़ा इमोशल ड्रामा ,डबल मीनिंग जोक्स तक पहुंच जाती हैं। फिल्म में अनुपम खेर अनु के पिता मिस्टर मारलो का किरदार निभा रहें हैं और चंकी पांडे बाबा 3जी का किरदार निभा रहें हैं।
परफोर्मेस
परफोमेंस की दृष्टि से सभी कलाकारो ने अपना किरदार बखूबी निभाया हैं। तुषार और रितेश कॉमेडी में काफी माहिर हैं। नेहा काफी खुशनुमा वहीं साराह काफी हॉट लग रहीं हैं। अनुपम खेर ने भी काफी अच्छी कॉमेडी की हैं। केवल चंकी पांडे की थोड़ी ओवर एक्टिंग लग रहीं थी, उसे हजम करना थोड़ा मुश्किल हो रहा था। फिल्म में उनकी कॉमेडी कोई जान नहीं डाल पाई।
प्लस प्वाइंट
फिल्म में कॉमेडी है जो दर्शको को काफी पंसद आएगी। 
माइनस प्वाइंट
डबल मीनिंग जोक्स की भरमार हैं।
ओवरऑल
फिल्म में डट्री जोक्स की भरमार हैं। अगर आपको सेक्स कॉमेडी से परहेज नहीं हैं तो फिल्म देखने जरूर जाएं। डबल मीनिंग होने की वजह से आपको दिमाग लड़ाना पड़ेगा।
कलाकार: रितेश देशमुख, तुषार कपूर, नेहा शर्मा, सारा जैन, अनुपम खैर, चंकी पांडे
निर्देशक: सचिन यार्दी
निर्माता: एकता कपूर, शोभा कपूर

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top