फिर ग्रिड फेल,बिजली गुल,ट्रेनें जाम 
नई दिल्ली।
homenewsनॉर्दन,नार्दन-ईस्टर्न और ईस्टर्न ग्रिड मंगलवार को एक साथ फेल हो गए। इससे राजस्थान सहित देश के 14 राज्यों में बिजली गुल हो गई। उत्तरी भारत के नौ राज्यों तथा पूर्वी भारत के असम,पश्चिम बंगाल,ओडिशा,झारखण्ड और बिहार में बिजली सप्लाई ठप हो गई। पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन को भी यह पता नहीं कि आखिर किस वजह से तीन ग्रिड एक साथ फेल हो गए। पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन के सीएमडी आर एम नायक ने बताया कि शाम 7 बजे तक बिजली की व्यवस्था सुचारू हो जाएगी। गौरतलब है कि रविवार रात 2.32बजे उत्तर भारत के 9 राज्यों में बिजली गुल हो गई थी। 
आगरा के नजदीक फॉल्ट
उत्तर प्रदेश पॉवर कार्पोरेशन के अधिकारी ने बताया कि उत्तरी ग्रिड में आगरा के नजदीक वहीं खराबी आई है जहां रविवार को आई थी। गड़बड़ी को ठीक करने के लिए युद्ध स्तर पर उपाय किए जा रहे हैं।
केन्द्र ने राज्यों पर फोड़ा ठीकरा
केन्द्र ने तीन ग्रिड एक साथ फेल होने का ठीकरा राज्यों पर फोड़ते हुए कहा कि उनके ज्यादा बिजली खींचने के कारण कई राज्यों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। केंद्रीय बिजली मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि कुछ राज्य ग्रिड से निर्धारित मात्रा से अधिक बिजली खींच रहे हैं जिसके कारण यह समस्या पैदा हो रही है। शिंदे ने बताया कि उन्हें अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी ग्रिड से 3000 मेगावाट अतिरिक्त बिजली ली गई है। अधिकारियों को इस पर पूरी तरह रोक लगाने अथवा ऎसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।
ट्रेनें जहां थी वहीं थमी
बिजली गुल होने से रेल यातायात बुरी तरह बाधित हुआ। देश भर में 400 से ज्यादा ट्रेनें रास्ते में फंस गई। गाजियाबाद से मुगलसराय के बीच 125 ट्रेनें जहां की तहां रूकी गई। इन ट्रेनों को डीजल इंजन के जरिए गंतव्य स्थल तक पहुंचाया गया। बिजली सप्लाई ठप होने से अस्पतालों में मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सरकारी दफ्तरों में भी कामकाज ठप हो गया। 
दिल्ली मेट्रो सेवा ठप,बाद में बहाल
बिजली गुल होने से दिल्ली मेट्रो रेल सेवा भी बुरी तरह प्रभावित हुई। मेट्रो की सभी छह लाइनों पर ट्रेनों के पहिए जहां के तहां थम गए। मेट्रो बंद होने से हजारों की संख्या में लोगों के सड़कों पर आ जाने से ट्रैफिक बढ़ गया और हर जगह जाम लग गया। बस स्टेन्डों पर भी यात्रियों की संख्या बढ़ गई। हालांकि थोड़ी देर बाद ही मेट्रो की सभी छह लाइनों पर सेवाएं बहाल हो गई। 
दिल्ली मेट्रो के प्रवक्ता ने बताया कि मेट्रो को प्राथमिकता के आधार पर बिजली उपलब्ध कराई गई है और लगभग तीन बजे सभी लाइनों पर ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया। ग्रिड फेल होने के कारण बिजली आपूर्ति ठप पड़ गई और सभी लाइनों पर ट्रेनें रूक गई थी। इसके बाद सभी स्टेशनों को बंद करके इनमें यात्रियों का प्रवेश रोक दिया गया था। रास्ते में रूकी पड़ी ट्रेनों को नजदीक के स्टेशनो पर लाकर यात्रियों को उतारा गया। मेट्रो के पास उपलब्ध अतिरिक्त बिजली से सुरंगों में फंसी नौ ट्रेनों को स्टेशनों तक लाया गया। इंटरचेंज स्टेशनों पर स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए अतिरिक्त कर्मचारियों को तैनात किया गया। 
इन राज्यों में बिजली गुल
पंजाब
दिल्ली
हरियाणा
राजस्थान
उत्तराखण्ड
उत्तर प्रदेश
जम्मू कश्मीर
हिमाचल प्रदेश
बिहार
असम
ओडिशा
झारखण्ड
पश्चिम बंगाल
कोटा थर्मल पॉवर प्लांट की सातों ईकाईयां बंद
उत्तरी ग्रिड में खराबी के कारण कोटा थर्मल पॉवर प्लांट की सातों ईकाईयां बंद हो गई है। छबड़ा पॉवर प्लांट की दो ईकाईयां भी ठप पड़ी है। रविवार को भी कोटा थर्मल पॉवर प्लांट की सात ईकाईयां ठप हो गई थी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top