बार-बार अभ्यास कर योग्यता में लाएं निखार 
बाड़मेर
योग्यता किसी सहारे की मोहताज नहीं होती वरन बार-बार अभ्यास करने से उसमें निखार आता है। यह बात राज्य भारत स्काउट व गाइड के तत्वावधान में राजकीय माध्यमिक विद्यालय रामूबाई नेहरू नगर में चल रहे अभिरूचि प्रशिक्षण शिविर में खरी उतर रही है। शिविर संचालक गोपी किशन शर्मा ने बताया कि शहर में दो शिविर आरंभ किए गए हैं। शहर के विस्तार को देखते हुए अधिक बालक-बालिकाओं को लाभ मिल सके। रामूबाई विद्यालय में कुल 85 बालक-बालिकाओं का प्रवेश अब तक हो चुका है। अभिरूचि केंद्र में जया सिलाई व कुकिंग का, ब्यूटी पार्लर का सुनीता बख्ताणी, मेहंदी का कुमारी लीना शर्मा, कंप्यूटर का कुमारी लता जीवनानी प्रशिक्षण दे रहे हैं। इसी तरह नृत्य का कुमारी मीना कोडेचा, सौंदर्य प्रसाधन सामग्री का ओम जोशी, साज सज्जा का रमेश घारू प्रशिक्षण दे रहे हैं। अंग्रेजी बेसिक ग्रामर व अंग्रेजी स्पोकन का सवाईलाल, केन वर्क का घमंडाराम कड़वासरा, चित्रकला का सवाईलाल भार्गव, गणित का आधारभूत शिक्षण राकेश बोहरा, संगीत का देव कुमार चौधरी व नाटक का गोपीकिशन शर्मा प्रशिक्षण दे रहे हैं। शर्मा ने बताया कि शिविर का उद्देश्य है कि बालक-बालिकाओं के अंदर छुपी प्रतिभा को तराशना ताकि बच्चे शिविर में सीखे हुनर को जीवन में अपनी आजीविका के रूप में अपनाने का प्रयास कर सके। गुरुवार को केंद्र में तंबाकू निषेध दिवस के उपलक्ष्य में चित्रकला, भाषण निबंध व वाद विवाद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। जिसका विषय हमारा जीवन और नशा रहेगा। जिसमें प्रथम द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों को पुरस्कार दिया जाएगा। प्रशिक्षणार्थी ज्योति शर्मा ने बताया कि उसने पहली बार केंद्र में प्रवेश लिया। 15 दिन में सलवार कुर्ते की कटाई व सिलाई करना सीख लिया है। इसी प्रकार भावना पंजवाणी ने बताया कि 18 वर्ष की उम्र में पहली बार मैडम सुनीता के सान्निध्य में नूडल्स व ब्रेड पकौड़ा बनाना सीखा। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top