जयपुर सहित पूरे भारत में बंद का व्यापक असर 
जयपुर/नई दिल्ली। 
bharat bandhपेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी के खिलाफ भारत बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है। जयपुर में भी बंद का खासा असर देखा जा रहा है। परकोटे के शहर में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद है। ऑटो वालों ने भी बंद को समर्थन दिया है। छोटी चौपड़ पर भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। राजग,वामदलों,सपा सहित 200 संगठनों ने बंद का समर्थन किया है। 
आगजनी और तोड़फोड़
बंद के दौरान कई जगह तोड़फोड़ और आगजनी की खबर है। बेंगलूरू में भाजपा कार्यकर्ताओं ने 3 सरकारी बसों में आग लगा दी। बेंगलुरू की अलग-अलग जगहों पर 10 बसों में तोड़फोड़ की गई है। बीएमटीसी ने शाम 6 बजे तक बसें न चलाने का फैसला किया है। पुणे में 13 सरकारी बसों में तोड़फोड़ की गई। नागपुर में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने 12 सरकारी बसों में तोड़फोड़ की। पुलिस ने तोड़फोड़ करने वाले कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है। 
बिहार और यूपी में ट्रेन रूट जाम
बिहार और यूपी में बंद का खास असर देखा गया है। बिहार की राजधानी पटना में बाजार पूरी तरह बंद हैं। जदयू की महिला शाखा की कार्यकर्ताओं ने राजेन्द्र नगर स्टेशन की पटरी पर बैठ गई। इस कारण तीन ट्रेनें रूकी हुई है। उधर यूपी सपा कार्यकर्ताओं ने ट्रेनों को ही निशाना बनाया। इलाहाबाद और वाराणसी में कार्यकर्ताओं ने गंगा-गोमती, साकेत एक्सप्रेस और स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस को रोक दिया और पटरी पर बैठ गए। इसकी वजह से दिल्ली-हावड़ा रूट पर पर ट्रेन ट्रैफिक रूक गया है।
दिल्ली में ऑटो और टैक्सी वालों की हड़ताल
दिल्ली में बंद के साथ-साथ ऑटो और टैक्सी वालों की भी हड़ताल है। ऑटो और टैक्सी यूनियनें सीएनजी की कीमत बढ़ाने का विरोध कर रही है। ऑटो और टैक्सी न चलने से देश के दूसरे हिस्सों से देश की राजधानी पहुंचे लोग स्टेशन और एयरपोर्ट पर फंस गए हैं। लोगों को ऑफिस पहुंचने में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने नांगलोई फाटक पर दिल्ली-रोहतक ट्रेन रूट को जाम कर दिया है। इससे इस रूट पर चलने वालीं ट्रेनों के आवागमन पर असर पड़ा है। 
मुंबई में भूखे रह गए बाबू
मुंबई के डिब्बावालों ने भी बंद का समर्थन किया है। मुंबई में कामकाजी लोग डिब्बावालों से खाना मंगवाते हैं। ऎसे में बाबूओं को भूखा रहना पड़ रहा है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top