टूट गई बाबा और अन्ना की जोड़ी! 
नई दिल्ली। भ्रष्टाचार के खिलाफ योग गुरू बाबा रामदेव और सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का साझा अभियान खटाई में पड़ गया है। टीम अन्ना दोनों के साझा आंदोलन के पक्ष में नहीं है। नोएडा में रविवार को टीम अन्ना की कोर कमेटी में फैसला हुआ कि बाबा रामदेव और अन्ना का आंदोलन अलग अलग चलेगा। हालांकि टीम अन्ना बाबा रामदेव के आंदोलन का समर्थन करती रहेगी। टीम अन्ना ने कहा कि जरूरत हुई तो अन्ना के आंदोलन में बाबा का सहयोग लिया जाएगा।बैठक में टीम अन्ना के तीन सदस्यों ने खुले रूप में बाबा के साथ साझा अभियान का विरोध किया। रविवार को नोएडा में हुई कोर कमेटी की बैठक में किरण बेदी,शांति भूषण और प्रशांत भूषण ने बाबा के साथ साझा अभियान का विरोध किया है। इनका कहना है कि साझा आंदोलन से ज्यादा फायदा नहीं होगा। हालांकि इन तीनों ने काले धन के खिलाफ बाबा रामदेव की ओर से चलाए जा रहे आंदोलन का समर्थन करने की बात कही। बैठक में कोर कमेटी के सभी 24 सदस्य मौजूद थे। कहा जा रहा है कि कोर कमेटी के ज्यादातर सदस्य साझा आंदोलन के पक्ष में नहीं थे। बाबा और अन्ना ने शुक्रवार को ऎलान किया था कि वे साथ मिलकर सरकार के खिलाफ मुहिम चलाएंगे लेकिन शनिवार को दोनों के बीच मतभेद की खबरें आने लगी। टीम अन्ना का कहना है कि बाबा रामदेव अन्ना को विश्वास में लेकर आगे नहीं बढ़ रहे हैं। बाबा ने अन्ना और उनकी टीम को विश्वास में लिए बिना ही साझा आंदोलन का ऎलान कर दिया। 
काजमी को किया बाहर
मोहम्मद काजमी को टीम अन्ना की कोर कमेटी से बाहर कर दिया गया है। काजमी पर अन्ना के आंदोलन को कमजोर करने का आरोप है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top