जन्म लेने से पहले ही मार दी गई लाखों लड़कियां
भारत में पिछले तीन दशक में एक करोड़ बीस लाख बच्चियों को गर्भ में लिंग का पता लगाकर मार दिया गया। सेंटर फॉर ग्लोबल हेल्थ रिसर्च के इस साल कराए गए सर्वेक्षण में यह तथ्य सामने आया हैं। इसकी पुष्टि संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार समिति की अक्तूबर 2010 की रिपोर्ट में भी हुई है।
एक हजार लड़कों में लड़कियों की संख्या 914
भारत में वर्ष 2011 की जनगणना से संकेत मिलता है कि छह साल तक के बच्चों के अनुपात में लड़कियों की संख्या में लगातार कमी दिखाई दे रही है। प्रति एक हजार लड़कों में लड़कियों की संख्या 914 रह गई है।
बड़े राज्यों में प्रतिशत 914 से भी कम
सर्वेक्षण के मुताबिक देश के कई बड़े राज्यों महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा और मध्यप्रदेश आदि में यह प्रतिशत 914 से भी कम है। पंजाब और हरियाणा में यह आंकडा क्रमश: 846 और 830 है। संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार समिति का मानना है कि एशियाई देशों खासकर भारत और चीन में 11 करोड़ 70 लाख कन्याओं की भ्रूण हत्या की गई।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top