वो मर कर भी कर रहे हस्ताक्षर
जयपुर। राजधानी के मानसरोवर शिप्रापथ में सरकारी जमीनों को हथियाने वाले गिरोह की नई करतूत सामने आई है। शिप्रापथ के समीप पांच बीघा जमीन पर रामनगर गृह निर्माण समिति की ओर से जारी पट्टों में मरे हुए से भी पट्टा करवा देने वाला ठगी का नया मामला उजागर हुआ है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गुरूवार देर शाम समिति के अध्यक्ष व मंत्री को गिरफ्तार कर पूछताछ की, तो इस गड़बड़झाले का खुलासा हुआ। उल्लेखनीय है कि जेडीए थाना पुलिस की ओर से गोविंदगढ़ गृह निर्माण सहकारी समिति पर की गई कार्रवाई के दौरान सरकारी जमीन पर फर्जी तरीके से पट्टे जारी करने का खुलासा हुआ था। यह कार्रवाई जेडीए के जोन उपायुक्त की ओर से दर्ज की गई रिपोर्ट के आधार पर की गई। इसके बाद चेती जेडीए पुलिस ने अन्य समितियों की जांच-पड़ताल शुरू की, तो इस गोरखधंधे का खुलासा हुआ।
मंत्री अध्यक्ष करते थे जाली हस्ताक्षर : जेडीए थाना पुलिस ने बताया कि मानसरोवर शिप्रापथ के समीप रामनगर गृह निर्माण सहकारी समिति की ओर से हाउसिंग बोर्ड के लिए अवाप्तशुदा करीब पांच बीघा भूमि पर पट्टे जारी करने की शिकायत मिली थी। इन पट्टों पर समिति अध्यक्ष रामजीलाल व मंत्री कुलदीप शर्मा की ओर से करीब पंद्रह से बीस वष्ाü पहले मर चुके समिति पदाघिकारियों के जाली हस्ताक्षर किए जा रहे थे। इस मामले पर अगर पट्टे लेने वाला गहन पूछताछ करता था, तो उसे जेडीए के जोन नंबर-पांच में पार्टी को लाकर यहां कार्यरत कर्मचारियों से भी मिलाते हुए मामले की सत्यता सिद्ध की जाती थी। इसके बाद झांसे में फंसे लोगों को पट्टा देकर मोटी रकम वसूल ली जाती है।
मिलीभगत का खेल : जानकारी के मुताबिक, रामनगर गृह निर्माण सहकारी समिति की ओर से करीब सौ से अघिक पट्टे जारी किए गए। पट्टों को जारी करने के साथ ही जेडीए से कनवर्जन कराने की तैयारी भी कर ली गई थी। जेडीए थाने के सीआई महावीर सिंह ने बताया कि समिति की ओर से जारी पट्टों के नियमन को लेकर जेडीए के जोन- पांच की ओर से शिविर लगाए जाने की तारीख भी तय करवा दी गई थी।
पूछताछ में जुटी पुलिस : जेडीए थाना पुलिस की ओर से रामनगर गृह निर्माण सहकारी समिति के मंत्री कुलदीप शर्मा व अध्यक्ष रामजीलाल को गिरफ्तार करते हुए गहन पूछताछ शुरू कर दी गई है। आज उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।
इनका कहना है :
समिति की ओर से जारी किए गए पट्टों पर फर्जी हस्ताक्षर किए जाने की बात सामने आई है। उपायुक्त की ओर से पट्टों के नियमन शिविर की तारीख दिए जाने का मामला सामने आया है। मामले पर अनुसंधान जारी है।
- राजेंद्र शर्मा, जेडीए, थाना प्रभारी

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top