स्वाभिमान की प्रतिमूर्ति श्रीमती इंदिरा गांधी: जोशी 
बाड़मेर 
भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी नें दुनिया को दिखा दिया कि इस देष की नारी महान है और स्वाभिमान की मूर्ति है देष के गौरव के लिए स्त्रियों ने त्याग एवं बलिदान दिया है। श्रीमती गांधी की स्पष्ट सोच थी कि देष की प्रगति एवं विकास के लिए कठोर परिश्रम, अटूट विष्वास, धैर्य साहस व निर्भिकता और अनुषासन की आवष्यकता होती है यह विचार वरिष्ठ कांग्रेसी धनराज जोषी ने कांग्रेस कार्यालय में श्रीमती इंदिरा गांधी की 100 वी जयंती समारोह के कार्यक्रम में व्यक्त किये। उन्होने कहा कि श्रीमती गांधी ने बैको का राष्ट्रीयकरण, बीससूत्री कार्यक्रम, राजाओं के प्रिविपर्स बंग्लादेष का उदय परिवार नियोजन जैसे महत्वपूर्ण निर्णय लेकर दुनिया में भारत का नाम रोषन किया। उन्होने इस अवसर पर कांग्रेसजनों से इंदिरा गांधी के संकल्पों को आत्मसात् करने का आह्वान किया। 
जिला प्रवक्ता मुकेष जैन ने बताया कि 19 नवम्बर को पूर्वप्रधानमंत्री स्व श्रीमती इंदिरा गांधी की 100 वी जयंती के अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी बाड़मेर द्वारा कार्यालय में श्रीमती गांधी की तस्वीर पर पुष्पमाला पहनाकर श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने कहा कि श्रीमती इंदिरा गांधी ने देष के दलितों, पीडि़तों, उपेक्षितों, किसानों, मजदूरों तथा युवा पीढ़ी में राष्ट्रीय स्वाभिमान, आत्मसात एवं संकल्प की भावना जागृत की। उन्होने कांग्रेस संगठन को मजबूत बनाने के लिए कांग्रेसजनों से एकजूट होकर समर्पित भाव से कार्य करने पर बल दिया। 
प्रदेष सचिव एवं बाड़मेर सहप्रभारी उम्मेदसिह तंवर ने कहा कि श्रीमती इंदिरा गांधी ने गरीबों के सामाजिक राजनैतिक व आर्थिक उत्थान के लिए व्यापक कार्यक्रमों का निर्धारण, हरित क्रांति की सफलता, आतंकवाद का दृढता से मुकाबला, धर्मान्धता और साम्प्रदायिकता से जुड़ी ताकतों का मुकाबला, षिमला पाकिस्तान को हराकर षिमला समझौता करने को मजबूर करने की क्षमता का परिचय दिया। उन्होने अपने करिष्माई व्यक्तित्व एवं नेतृत्व के बल पर जनता में सिरमौर एवं प्रिय बना दिया। 
जिलाध्यक्ष फतेह खां ने कहा कि श्रीमती इंदिरा गांधी ने ही योजना के मूल उद्देष्य ग्रोथ विथ स्टेविलिटी को नया रूप देकर ग्रोथ विथ सोषियल जस्टिस किया, लैण्ड सीलिंग एक्ट लागू कर दलितों को भूमि के पट्टे दिये। श्रीमती गांधी में राजनीतिक प्रतिषीलता, कार्यकुषलता जैसे महान व्यक्तित्व के गुण थे। उन्होने कांग्रेसजनों से एकजूट होकर संघर्ष के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। आज के कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष फतेह खां, प्रदेष सचिव उम्मेदसिह तंवर, विधायक मेवाराम जैन, नगरपरिषद् सभापति लूणकरण बोथरा, वरिष्ठ कांग्रेसी धनराज जोषी, उपजिला प्रमुख सोहनलाल चौधरी, उपाध्यक्ष यज्ञदत्त जोषी, मूलाराम मेगवाल, महामंत्री जगजीवन रामसिधी, प्रवक्ता मुकेष जैन, बाड़मेर प्रधान श्रीमती पुष्पा चौधरी, जिला महिला कांग्रेसाध्यक्ष श्रीमती मृदुरेखा चौधरी, ब्लॉकध्यक्ष नजीर मोहम्मद, नगर अध्यक्ष दमाराम परमार, ब्लॉकध्यक्ष चौहटन मलाराम सारण, एसटी विभाग जिलाध्यक्ष हनुमान भील, जिला कार्यकारिणी सदस्य नरेषदेव सहारण, मोहनलाल सोलंकी पार्षद, किषोर शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेसी छगनलाल जाटव, जगनाथ राठी, मेवाराम सोनी, मगराज सैन, भंवरलाल शर्मा, पूर्व प्रधान उदाराम मेगवाल, वार्ड सं. 16 प्रत्याषी परमेष्वरी कंवर मूलाराम पूनड़, मोहम्मद रफीक, रतनलाल सोनी, छोटूसिह महासचिव, मांगाराम मसूरिया, चेतनराम सारण कार्यालय सचिव ओमप्रकाष चौधरी, वीपीसिह अखाराम कुमावत, किषनलाल पार्षद, ईष्वरसिह, मुबारक खां सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित हुए। अंत में इंदिरा गांधी सर्किल पर इंदिरा गांधी की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन भेंट किये। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top