सम्मेलन में किया शैक्षिक विषयों पर चिन्तन
बाड़मेर 
शिक्षक संघ सियाराम का प्रान्तीय सम्मेलन तीर्थराज पुष्कर में 20 से 21 अक्टूम्बर तक आयोजित किया जिसमें राज्य भर से हजारों ने षिक्षकों ने भाग लिया तथा दो दिन तक विभिन्न शैक्षिक मुद्दो पर चिन्तन मनन कर आवष्यक सुधारों हेतु समापन समारोह में पधारे षिक्षा राज्य मंत्री को षिक्षा में गुणात्मक सुधार, नामांकन वृद्धि, शैक्षिक वातावरण का निर्माण, षिक्षकों की नियमबद्ध पदोन्नति एवं सम्मानजक वेतन एवं भत्तों के बारे में विचार विमर्ष किया गया तथा संगठन द्वारा वर्ष भर षिक्षक एवं षिक्षा के हितार्थ सम्पादित कार्य, आन्दोलन एवं षिक्षा में नवाचार हेतु आयोजित संगोष्ठी, महिला संगोष्ठी आदि के बारे में जानकारी प्रदान की गई एवं आगामी वर्ष भर के कार्यो की रूपरेखा बनाई गई। प्रान्तीय सम्मेलन का उद्घाटन सहकारिता मंत्री अजयसिंह किलक द्वारा किया गया एवं समापन षिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी द्वारा किया गया। समापन समारोह में मुख्य अतिथि के पद से बोलते हुए षिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि षिक्षा जगत के इतिहास में पहली बार रिकार्ड तोड़ कार्य षिक्षा विभाग में हुआ जिसके तहत सबसे अधिक पदोन्नति, रिकार्ड 15 लाख नामांकन सरकारी विद्यालय में बढा, षिक्षक सतत कार्य करने वाला हैं जो कि न तो कभी रिटायर होता हैं और न ही टायर होता हैं, षिक्षकों की 86 हजार डीपीसी की गई तथा 14 हजार डीपीसी 27 अक्टूम्बर तक ओर की जायेगी, रिट का फैसलां आने से 23500 षिक्षकों की नौकरी से खतरा हटा तथा 7000 और षिक्षकों को नौकरी मिलेगी उक्त कार्य हेतु सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में सकारात्मक पैरवी की गई, 15 में से 8 मेरीट सरकारी विद्यालय से, बालक देषभक्त बने इस हेतु 200 महान हस्तियों के पाठ पाठ्यक्रम में शामिल किये गये, 5 वर्ष का बालक सरकारी स्कूल मे प्रवेष लेगा, पातेय वेतन की परम्परा को समाप्त किया आदि कई षिक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण घोषणाएं षिक्षा राज्य मंत्री द्वारा सम्मेलन में की गई षिक्षा मंत्री ने कहा कि आगामी सत्र में शैक्षिक सम्मेलन में भाग नहीं लेने वाले षिक्षकों को अवकाष का लाभ नहीं मिलेगा षिक्षक संघ सियाराम से जुड़े समस्त षिक्षक अनुषासित एवं मर्यादित आचरण वाले षिक्षक हैं आप भाग्यषाली हो कि आपको सियाराम जी जैसा कुषल एवं अनुभवी नेतृत्व मिला हैं जो कि षिक्षकों की समस्याएं प्रखर रूप से राज्य सरकार के सामने रखते हैं तथा समस्याओं के समाधान नहीं होने पर कड़ा रूख भी अपनाते हैं आप सभी देष के भविष्य निर्माता हो विद्यालय में नामांकन तथा षिक्षा का माहौल बनाने में योगदान प्रदान कर देष की प्रगति में साधक बने आपकी सभी समस्याओं के समाधान की पूरी जिम्मेवारी राज्य सरकार की जिसको हल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी उक्त बाते षिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपस्थित षिक्षकों को कही। इस सम्मेलन में बाड़मेर जिले से 111 षिक्षकों ने जिला संरक्षक कमलसिंह राणीगांव एवं जिलाध्यक्ष छगनसिंह लूणू के नेतृत्व में भाग लिया इसके अलावा जिला मंत्री मुकेष व्यास, कार्यकारी अध्यक्ष बाबूराम बृजवाल, कोषाध्यक्ष दामोदर आचार्य, हमीराराम कोडेचा, अरूण कुमार, विजयपालसिंह राजपुरोहित, मोहनसिंह सुथार, धाराराम, मोहनलाल, केवलचन्द कोडेचा, सेड़वा ब्लॉक अध्यक्ष बदनसिंह, राजेन्द्रसिंह मेड़तीया, मगराज जांगिड़, रूपाराम मेघवाल, सियाराम शर्मा, भागीरथसिंह, गिरधरसिंह गरल, हीरालाल जीनगर, हुकमसिंह बालोतरा, बन्नेसिंह आंटा, जितेन्द्र दवे, निर्मल अवस्थी, गजेन्द्रसिंह, विषनसिंह राजपुरोहित, गोविन्द शर्मा सहित सैकड़ो षिक्षकों ने दो दिन तक आयोजित इस सम्मेलन में सफलतापूर्वक भाग लिया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top