बाड़मेर। पेड़-पौधे जीवन का आधार: जिला प्रमुख
जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल ने पौधारोपण से की जिला स्तरीय वन महोत्सव की शुरूआत
बाड़मेर।
पेड़-पौधे प्रकृति का उपहार और जीवन का आधार है। पौधांे के कारण हमारा जीवन सुरक्षित है। हमंे अधिकाधिक पौधे लगाने के साथ उनको सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी लेनी होगी। प्रत्येक व्यक्ति कम से कम दस पौधे अवश्य लगाए। जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल ने गुरूवार को सिणधरी पंचायत समिति की एड सिणधरी ग्राम पंचायत के डाबड़ तालाब पर आयोजित जिला स्तरीय वन महोत्सव मंे मुख्य अतिथि के रूप से यह बात कही।
जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल ने कहा कि पेड़ हमारी जरूरतांे को पूरा करते है। इनकी बदौलत ही पर्यावरण का संतुलन बना रहता है। उन्हांेने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति पौधे लगाने एवं उनकी सुरक्षा का जिम्मा लेंगे तो निसंदेह ऐसे कार्यक्रमांे की उपयोगिता साबित होगी। जिला प्रमुख श्रीमती मेघवाल ने ग्रामीणांे से बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की अपील करते हुए कहा कि कोई भी बालिका शिक्षा से वंचित नहीं रहनी चाहिए। उन्हांेने कहा कि अंधाधुंध कटाई से पेड़-पौधे कम होते जा रहे है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को अधिकाधिक पौधारोपण करने के साथ दूसरे लोगांे को इसके लिए प्रेरित करना चाहिए।
वन महोत्सव समारोह के दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार सामुदायिक प्रकृति के कार्याें पर पौधारोपण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत हुए कार्याें पर वन विभाग के सहयोग से वृक्ष कंुज का निर्माण होगा। डाबड़ तालाब मंे इस अभियान की शुरूआत की गई है। नेहरा ने कहा कि व्यक्तिगत कार्याें पर प्रत्येक लाभार्थी पांच-पांच पौधे लगाए। उनको निःशुल्क पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्हांेने ग्रामीणांे से पर्यावरण संरक्षण मंे योगदान देने का आहवान करते हुए कहा कि जल संरक्षण के साथ ग्राम पंचायत को खुले मंे शौच से मुक्त कराने के लिए बेहतर कार्य करें। उन्हांेने कहा कि आगामी दो-तीन माह मंे एड सिणधरी ग्राम पंचायत को ओडीएफ घोषित करवाने के लिए समन्वित प्रयास करें। उन्हांेने कहा कि बालिकाआंे को शिक्षा से जोड़ने के साथ राष्ट्रीय कार्यक्रमांे मंे अधिकाधिक भागीदारी सुनिश्चित करें। मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने वन विभाग को मोबाइल वाहन उपलब्ध कराने के लिए प्रस्ताव भिजवाने को कहा। ताकि सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम मंे स्वीकृति जारी कराई जा सके। जिला स्तरीय वन महोत्सव के दौरान जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा, सिणधरी पंचायत समिति की प्रधान श्रीमती जसीदेवी, उप वन संरक्षक लक्ष्मणलाल,संयुक्त निदेशक जगपालसिंह, डीएसपी रामनिवास, तहसीलदार पेमाराम, अधीक्षण अभियंता हीरालाल अहीर, विकास अधिकारी रविन्द्र प्रसाद आचार्य, केयर्न इंडिया के विनय नंदा, सरपंच पूराराम थोरी समेत कई जन प्रतिनिधियांे एवं अधिकारियांे ने पौधारोपण कर वन महोत्सव की शुरूआत की। 
समारोह के दौरान उपवन संरक्षक लक्ष्मणलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत जल संरक्षण संरचनाआंे के निर्माण के बाद वृ़़़़क्ष कुंज की स्थापना की शुरूआत की गई है। बाड़मेर जिले मंे 103 वृक्ष कुंज की स्थापना की जाएगी। उन्हांेने कहा कि पौधारोपण एवं वन्य जीव प्रेम बाड़मेर की पुरानी परंपरा रही है। उन्हांेने जिले मंे वानिकी विकास के लिए विभाग की ओर से कराए जा रहे कार्याें के बारे मंे जानकारी देते हुए कहा कि वन एवं जल संरक्षण मंे सबका सहयोग जरूरी है। उन्हांेने स्थानीय लोगांे के वन्य प्रेम का हवाला देते हुए कहा कि ग्रामीणांे के सहयोग की बदौलत चिंकारा, मोर सरीखे वन्य जीव जिले मंे बहुतायत से देखे जा रहे है। उन्हांेने वन्य जीवांे की आपातकालीन स्थिति मंे मदद के लिए एक वाहन की आवश्यकता जताई। कार्यक्रम की शुरूआत मंे बालिकाआंे ने स्वागत गीत, बिहारी पंवार एंड पार्टी ने हरित क्रांति, रजनीकांत शर्मा ने डा. बंशीधर तातेड़ लिखित गीत पौधा लगावो रे की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम का संचालन डा.बंशीधर तातेड़ ने किया। समारोह के अंत मंे सरपंच पूराराम थोरी ने आगुंतकांे का आभार जताते हुए ग्रामीणांे से प्रत्येक घर मंे पौधारोपण करने का आहवान किया। जिला स्तरीय वन महोत्सव मंे जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल एवं प्रधान जसीदेवी का चूनड़ी ओढाकर बहुमान किया गया। वहीं अन्य अतिथियांे का साफा पहनाकर एवं माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर सिणधरी सरपंच संघ के ब्लाक अध्यक्ष ठाकराराम, सहायक अभियंता सुमेरसिंह, पंचायत प्रसार अधिकारी संघ के कानसिंह भाटी समेत कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top