बाड़मेर स्वच्छ भारत मिशन : हर ग्राम पंचायत में होगा एक प्रभारी अधिकारी नियुक्त 
ग्राम पंचायतो को खुले में शौच से मुक्त कराने में जिला संदर्भ समूह की भूमिका महत्वपूर्णः नेहरा
-जिला मुख्यालय पर हुआ ग्राम पंचायतांे की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन
बाड़मेर।
ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त कराने मंे जिला संदर्भ समूह की महत्वपूर्ण भूमिका है। ग्राम पंचायत स्तर पर निगरानी समितियां गठित करने के साथ प्रतिदिन सुबह के समय फालोअप किया जाए। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने शनिवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे जुलाई माह मंे ओडीएफ के लिए प्रस्तावित ग्राम पंचायतांे के प्रतिनिधियांे की कार्यशाला के दौरान यह बात कही।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि बाड़मेर जिले को खुले मंे शौच से मुक्त कराने के लिए जन प्रतिनिधियांे एवं कार्मिकांे को समन्वित प्रयास करने होंगे। उन्हांेने कहा कि गांव स्तर पर गणमान्य एवं मौजीज लोगांे का सहयोग लेते हुए ग्रामीणांे को शौचालय निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जाए। नेहरा ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत मंे एक राजपत्रित अधिकारी को स्वच्छ भारत मिशन के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया जाना है। उन्हांेने कहा कि शौचालय बनवाने के साथ ग्रामीण उसका उपयोग करते हुए खुले मंे शौच जाने की परिपाटी को त्यागे, यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाए। नेहरा ने कहा कि जिला संदर्भ समूह को पांच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इनके जरिए ग्राम स्तर पर ग्रामीणांे से शौचालय निर्माण के लिए समझाइश करते हुए प्रेरित किया जाए। उन्हांेने कहा कि ओडीएफ घोषित होने वाली ग्राम पंचायत ग्राम सभा के प्रस्ताव के साथ ब्लाक स्तर पर गठित कमेटी से सत्यापन करवाकर प्रमाण पत्र भिजवाएं। इस दौरान विश्व बैंक के जल एवं स्वच्छता प्रोजेक्ट के सलाहकार चेतन अत्रे ने प्रोजेक्टर के जरिए स्वच्छ भारत मिशन एवं शौचालय निर्माण के बारे मंे जानकारी दी। इस दौरान स्वच्छ भारत मिशन संबंधित जागरूकता फिल्मांे का भी प्रदर्शन किया गया। कार्यशाला मंे जिला समन्वयक पुष्पेन्द्रसिंह सोढ़ा ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत अब तक हुए शौचालय निर्माण, भावी कार्य योजना के बारे मंे जानकारी दी। स्वच्छ भारत मिशन कार्यशाला में जुलाई माह मंे ओडीएफ के लिए प्रस्तावित ग्राम पंचायतांे के सरपंच, ग्रामसेवकांे के साथ संबंधित पंचायत समितियों के विकास अधिकारियांे ने भाग लिया। इस दौरान मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने प्रत्येक ग्राम पंचायत के सरपंच एवं ग्रामसेवक से स्वच्छ भारत मिशन के तहत अब तक हुए कार्याें की प्रगति की जानकारी ली। उन्हांेने संबंधित जन प्रतिनिधियांे एवं कार्मिकांे को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे लक्ष्य के अनुरूप अपनी ग्राम पंचायत को ओडीएफ घोषित करवाएं। उन्हांेने साक्षरता के प्रेरकांे को भी दस-दस शौचालय निर्माण का लक्ष्य आवंटित करने एवं उनके जरिए भी ग्रामीणांे को स्वच्छ भारत मिशन से जुड़ने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top