बाड़मेर पुलिस ने 6 घंटे में किया चोरी की वारदात का पर्दाफाश
बाड़मेर 
बड़े भाई से किसी बात को लेकर कहासुनी होने पर छोटा भाई, जो अब तक उसके साथ काम कर रहा था, उसने ही रात में एक अन्य के साथ मिलकर दुकान में चोरी की वारदात को अंजाम दे दिया। सबूत नहीं मिले इसके लिए आरोपित सीसीटीवी कैमरे तोड़कर ले गए। 
कोतवाली पुलिस ने गुरुवार देर रात नकबजनी की इस वारदात का छह घंटों में ही पर्दाफाश किया है। पुलिस ने चोरी की वारदात के दूसरे आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मुख्य आरोपित अभी फरार है।

सुबह दी थी रिपोर्ट
महाबार पीथल निवासी तनसिंह पुत्र दीपसिंह राजपूत ने शुक्रवार को कोतवाली में रिपोर्ट पेश कर बताया कि चौहटन रोड पर उसकी किराणें की दुकान व ऑफिस है। गुरुवार रात अज्ञात चोरों ने उसके ताले तोड़ 2 लाख 35 हजार रुपए सहित विभिन्न बैंकों के चेक चुरा लिए। इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

परिवादी से पूछताछ ने दी दिशा

इसके बाद कोतवाल बुद्धाराम विश्रोई के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक सजना विश्रोई, एएसआई मगन खां, कांस्टेबल गोपीकिशन व दिनेश की टीम गठित की गई। टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। परिवादी तनसिंह से पूछताछ की तो उसने बताया कि एक दिन पूर्व उसके सगे भाई गणपतसिंह के साथ उसका झगड़ा हुआ था। 

इससे उसका भाई नाराज था। उसकी दुकान पर कार्य करने वाला जुगतसिंह पुत्र चंदनसिंह रावणा राजपूत निवासी महाबार पीथल उसके भाई गणपतसिंह के साथ रहता है। इससे पुलिस को गणपतसिंह व जुगतसिंह पर संदेह हुआ।

पहले गुमराह किया, फिर उगला सच

पुलिस ने जुगतसिंह को दस्तयाब कर पूछताछ की तो पहले उसने गुमराह किया। फिर गहनता से पूछताछ की तो उसने गणपतसिंह के साथ जुुर्म करना स्वीकार कर लिया। इस पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर उसके कब्जे से चुराए गए 46 हजार रुपए बरामद किए। पुलिस आरोपित गणपतसिंह की तलाश में जुटी है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top