पाक विस्थापितों के पास भारतीय नागरिकता पाने का मौका, जोधपुर में लगा शिविर
जोधपुर  
जिला कलेक्ट्रेट के डीआरडीए हॉल में शुक्रवार को पाक विस्थापितों के लिए नागरिकता शिविर आयोजित किया गया। शिविर के दूसरे दिन करीब 30 से 40 लोगों ने नागरिकता के लिए आवेदन किया। जिला कलक्टर ने बताया कि शिविर सोमवार को भी आयोजित किया जाएगा।
शिविर में लम्बे समय से भारत में रह रहे पाक विस्थापित आवेदन कर रहे हैं। भारतीय नागरिकता के अभाव में इन लोगों को देश में किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं मिल पाती। विस्थापित यहां दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। पाकिस्तान से भारत आए इन लोगों को दस्तावेज के अभाव में ना गैस कनेक्शन मिलते हैं और ना बिजली पानी के कनेक्शन।
वैध दस्तावेजों के अभाव में इन लोगों को कोई अपना घर भी किराए पर नहीं देता और ना ही कोई कंपनी जॉब ऑफर करती है। एेसे में ये लोग झुग्गियों में रहने को विवश हैं। योग्यता होते हए भी नौकरी नहीं है तो दर दर भटक रहे हैं। इन्हीं सब परेशानियों को देखते हुए जिला कलक्टर ने नागरिकता शिविर आयोजित किया। कलक्टर ने कहा कि किसी भी पाक विस्थापित को दस्तावेज लेकर अलग अलग ना घूमना पड़े, इसके लिए ये शिविर ये आयोजित किया गया है। शिविर में जिला कलक्टर के साथ एडीएम अजरा परवीन भी मौजूद रहीं।

नागरिकता के अभाव में इलाज नहीं

कुड़ी भगतासनी से आए प्रेमाराम 11 साल से भारत में रह रहे हैं। वो चल नहीं सकते। बीमार इतने हैं कि खा भी नहीं सकते, लेकिन नागरिकता व दस्तावेजों के अभाव में उनका इलाज नहीं हो पा रहा। वहीं नेताराम की पत्नी सीताबाई भी इसी वजह से अपना इलाज नहीं करवा पा रहीं। उनके पैर नहीं हैं।
गौरतलब है कि मार्च 2015 में भी पाक विस्थापितों के लिए कैम्प लगाया गया था। उस वक्त 487 लोगों ने आवेदन किए थे और 156 लोगों ने दस्तावेज जमा करवाए थे। 

गृह मंत्रालय को भेजे जाएंगे आवेदन

कलक्टर मल्लिक ने बताया कि सभी आवेदन दस्तावेजों के साथ गृह मंत्रालय को भिजवाए जाएंगे, जिससे नागरिकता मिलने की प्रक्रिया शुरू हो सके।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top