बाड़मेर लाइफ प्रोजेक्ट स्वरोजगार की दिशा में अनूठी पहलःशर्मा
बाडमेर।
महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत एक वित्तीय वर्ष मंे 100 दिवस का रोजगार पूर्ण करने वाले परिवारांे को स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास सराहनीय है। लाइफ प्रोजेक्ट के तहत प्रशिक्षण देकर स्थाई स्वरोजगार से जोड़ने की अनूठी पहल की गई है। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने शनिवार को जसाई ग्राम पंचायत मुख्यालय पर अटल सेवा केन्द्र मंे स्टेट बैंक आफ बीकानेर आरसेटी की ओर से सिलाई प्रशिक्षण के अवलोकन के दौरान कही।
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने कहा कि महिलाएं सिलाई प्रशिक्षण के उपरांत इसको स्थाई रोजगार के रूप मंे अपनाएं। उन्हांेने प्रशिक्षण लेने वाली महिलाआंे को दो-तीन दिन का विशेष प्रशिक्षण सत्र आयोजित कर बच्चांे के साथ कुर्ता-पजामा जैसे कपड़ांे की सिलाई सिखाने के निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने महिलाआंे से अब तक दिए गए प्रशिक्षण के बारे मंे महिलाआंे से जानकारी दी। महिलाआंे ने जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, नाबार्ड के महाप्रबंधक माणकचंद रेगर, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक प्रदीप चौधरी को मशीनांे पर कपड़ांे की सिलाई करके बताई। प्रशिक्षणार्थी कई महिलाआंे ने बताया कि अब तक वे तेज गर्मी मंे मजदूरी करने जाती थी। अब सिलाई संबंधित प्रशिक्षण लेने के कारण अपने परिवार के साथ पड़ौसियांे के कपड़ांे की भी सिलाई कर रही है। इससे उनको प्रति माह 5 से 7 हजार रूपए की आय भी होने लगी है। इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने ग्रामीण विकास योजनाआंे की जानकारी देते हुए महिलाआंे से अपने घरांे मंे आवश्यक रूप से शौचालय निर्माण करवाने को कहा। उन्हांेने कहा कि महिलाएं शौचालय निर्माण मंे प्रेरणा का कार्य कर सकती है। अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजना मंे 100 दिवस का रोजगार पूर्ण करने वाले परिवारांे को उनकी मांग के अनुरूप विभिन्न ट्रेडस मंे प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि प्रशिक्षण लेने के साथ इसको स्थाई रोजगार के रूप मंे अपनाएं। अगर इसमंे किसी तरह की दिक्कत हो तो जिला प्रशासन से संपर्क किया जा सकता है। इस दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी अशोक गोयल ने स्वयं सहायता समूह के गठन की प्रक्रिया एवं महिला एवं बाल विकास विभाग की योजनाआंे के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। एसबीबीजे आरसेटी के महाप्रबंधक जयप्रकाश सिंहल ने आरसेटी की ओर से आयोजित किए जा रहे विभिन्न प्रशिक्षण के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान सरपंच श्रीमती स्वरूपकंवर, किशनसिंह समेत कई गणमान्य नागरिक एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। इस अवसर पर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाआंे को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top