तिलक बस स्टेण्ड पर टिकट खिड़की की व्यवस्था करने की मांग 
इंद्र बारूपाल 
बाड़मेर। 
बाड़मेर शहर मे आम जनता के सुविधाजनक स्थान तिलक बस स्टेण्ड पर यात्री सुविधा हेतु स्थित टिकट खिड़की व्यवस्था को रोड़वेज द्वारा बिल्कुल ही हटा देने के कारण वर्तमान में बाड़मेर की समस्त आम जनता/यात्रीगण भयंकर रूप से परेशान हो रहे है।
रोड़वेज का नया बस स्टेण्ड बाड़मेर मुख्य शहर के बाहरी छोर पर, दूर होने के कारण यात्रियों को जितना किराया उनके जानें वाले स्थान का लगता है, उससे भी अधिक दुगुना-चौगुना अतिरिक्त किराया टैक्सी आदि वाहन को देकर रोड़वेज के इतने दूर नये बस स्टैण्ड तक पहुॅचना पड रहा है। एक तरफ इतनी बढती महंगाई के चलते आम जनता/यात्रियों पर रोड़वेज की उक्त अव्यवस्था के कारण किराये की दोहरी मार पड़ रही है। बीमारी के उपचार हेतु आने-जाने वाले बीमार/वृद्ध/चलने फिरने से लाचार यात्री/आम जनता इससे भारी परेशान हो रही है।
आम जनता के सार्वजनिक उपयोग के आरक्षित तिलक बस स्टेण्ड की उक्त भूमि का व्यवसायिक प्रयोजनार्थ उपयोग किया जाना अनुचित है। अन्यथा बाड़मेर शहर में आम जनता के सार्वजनिक उपयोग हेतु कोई खुला स्थान बच ही नहीं पायेगा? एवं बाड़मेर शहर की आम जनता को भारी परेशानी उठानी पडेगी।
रोड़वेज बसें आम जनता की यातायात सुविधा के लिए है, रोड़वेज बसें भारी वाहन की श्रेणी में भी नहीं आती है। रोड़वेज बसे तिलक बस स्टेण्ड पर टिकट खिड़की पर आकर, यात्री भार लेकर स्वतः ही रवाना हो जायेगी। इससे किसी प्रकार की यातायात व्यवस्था भी बाधित नहीं होगी। 
रोडवेज प्रशासन द्वारा वास्तविक तथ्यों को छुपाकर आम जनता की सुविधा को नजरअंदाज कर बहाने बाजी करते हुए बार-बार नये-नये तरीके निकालकर गलत तथ्यों की रिपोर्ट पेश कर टालमटौल की जारही है।

बाड़मेर शहर के अन्दर यात्री सुविधा हेतु टिकट खिड़की की समुचित व्यवस्था नहीं करने से यात्री अपने घरेलु सामान सहित लदे हुये, इधर-उधर भटक कर परेशान हो रहे है। यात्रियों को शहर के बाहर छोड़ा जा रहा है। यात्रियों को वर्तमान भंयकर गर्मी में रोड़वेज के इतने दूर नये बस स्टेण्ड तक पहुंचने में परेशानी उठानी पड़ रही है। 
रोड़वेज द्वारा तिलक बस स्टेण्ड के बाहर चौहटन-गडरा-साचौर मार्ग के लिए टिकट खिड़की व्यवस्था करना बताया जारहा है। परन्तु उक्त स्थान पर यात्रियों के खड़े रहकर बसों का इन्तजार करने हेतु कोई जगह ही नहीं है। टिकट खिड़की पर रोड़वेज का कोई कर्मवारी बैठता ही नहीं है। भंयकर गर्मी में यात्रियों को धूप में मुख्य सड़क पर ही खड़ा रहना पड़ता है। महिला यात्रियों को तो इससे भारी परेशानी हो रही है। इसके उपरान्त भी रोड़वेज बसें उक्त स्थान पर आती ही नहीं है, लोग इन्तजार करते रहते है।
बाड़मेर शहर की भौगोलिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए बाड़मेर मुख्य शहर के अन्दर रोड़वेज के यात्री सुविधा हेतु तिलक बस स्टेण्ड पर सभी मार्ग के यात्रियों के लिये टिकट खिड़की व्यवस्था करना बहुत ही आवश्यक है।
बाड़मेर की आमजनता/समस्त यात्रीगण का कथन है कि रोड़वेज की उक्त व्यवस्था से आम जनता को राहत दिलवाने हेतु उनके द्वारा बाड़मेर के माननीय सांसद एवं जिले के समस्त विधायक महोदय से बार बार निवेदन कर अवगत कराने के उपरान्त भी सांसद महोदय एवं सभी विधायक महोदय अपनी आखे मुदे हुये है। आम जनता/समस्त यात्रीगण निरंतर परेशान होकर दुखी हो रहे है। आम जनता की कोई सुनवाई नहीं होकर उन्हें राहत नहीं मिल पा रही है।
बाड़मेर रोड़वेज के प्रबन्धक यात्रियों की सुविधा को बिलकुल ही अनदेखा कर अवैध वाहन/निजी बसों आदि को बढावा देने की कवायद में लगे हुये है। जिला मुख्यालय बाड़मेर पर रोड़वेज की उपरोक्त अव्यवस्था के कारण ही अवैध वाहनों का संचालन हो रहा है रोड़वज यात्री इतने दूर नये बस स्टेण्ड नहीं पहुंचकर अपने हित में अवैध वाहनों से ही यात्रा करना उचित समझते है। जिसके लिए बाड़मेर का रोड़वेज प्रशासन ही जिम्मेवार है। रोड़वेज प्रशासन द्वारा रोकथाम हेतु पुलिस प्रशासन को जिम्मेवार ठहराया जा रहा है, जबकि इसके लिए रोड़वेज प्रबन्धन ही जिम्मेदार है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top