जालोर से होकर गुजरेगी बाड़मेर-जैसलमेर-भाभर रेल लाइन
जालोर
रेल बजट में घोषित जैसलमेर-भाभर रेल लाइन प्रोजेक्ट से जिले के दूठवा , सरवाना, पादरड़ी और रतनपुरा क्षेत्रों को लाभ मिलेगा। इस पूरे प्रोजेक्ट को भविष्य के रूप में देखा जा रहा है। चूंकि भवातड़ा में सूखा बंदरगाह प्रस्तावित है। इसलिए प्रोजेक्ट महत्वपूर्ण है। यह पूरी रेल लाइन इसी प्रोजेक्ट को देखते हुए स्वीकृति जारी की गई है और जालोर जिले के सांचौर क्षेत्र के बहुत से गांव इस प्रोजेक्ट से लाभान्वित हो रहे है। सरवाना से भवातड़ा की दूरी मात्र 7 किलोमीटर है। यहां से रेल लाइन गुजरेगी। ऐसे में यह क्षेत्र एक मुख्य प्वाइंट साबित होगा। यही नहीं दूठवा, पादरड़ी, रतनपुरा और थराद रोड स्टेशन भी महत्वपूर्ण प्वाइंट साबित होंगे। 
रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार 339 किलोमीटर लंबे इस प्रोजेक्ट में जिले के इन क्षेत्रों के सांचौर क्षेत्र में भवातड़ा क्षेत्र के आस पास के क्षेत्र में ये स्टेशन घोषित किए गए हैं। ऐसे में प्रोजेक्ट से जिले के इन क्षेत्रों के साथ साथ पूरे सांचौर क्षेत्र को फायदा मिलेगा। रेलवे इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के अनुसार बाड़मेर-जैसलमेर-भाभर रेलवे लाइन के लिए इस बजट में 5 हजार करोड़ रुपए जारी किए जा चुके हैं। जल्द ही इस प्रोजेक्ट के लिए काम भी शुरू हो जाएगा। जिसके बाद रेल सेवा से वंचित इन क्षेत्रों में भी रेल सेवा का फायदा मिल सकेगा। 
प्रोजेक्ट के मायने 
इस रेल लाइन के लिए बजट की घोषणा भविष्य को देखते हुए की गई है। पिछले वर्ष सांचौर क्षेत्र में भवातड़ा में सूखा बंदरगाह बनाने को लेकर काफी चर्चा चली। इस क्षेत्र में सूखा बंदरगाह प्रस्तावित है। इधर, रेल लाइन बिछने और भवातड़ा में बंदरगाह बनने पर जैसलमेर से लाइम स्टोन, बाड़मेर से कोयला, जिप्सम, पेट्रोलियम उत्पाद से जुड़ी सामग्री, पवन ऊर्जा संयंत्र, जालोर का ग्रेनाइट पत्थर सीधे बंदरगाह तक जा सकेगा। इसके साथ इस रेल बजट में एक अन्य रेल सर्वे बाड़मेर-पालनपुर भी फिर से स्वीकृत किया गया है। इस सर्वे पर इस वर्ष 5 लाख रुपए जारी किए गए है। यह प्रोजेक्ट भी बहुआयामी साबित होगा। इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य सांचौर, बाड़मेर और गुजरात राज्य के बीच रेल सेवा का जाल बिछाना है। ताकि रेलवे को अच्छी अर्निंग के साथ साथ क्रूड ऑयल, ग्रेनाइट, लाइम स्टोन अन्य सामग्री आसानी से बड़ी मंडियों तक पहुंच सके।
जालोर जिले के एरिया भी होंगे लाभान्वित 
इसप्रोजेक्ट में जैसलमेर-बाड़मेर के साथ साथ जालोर जिला भी लाभान्वित होगा। जालोर जिले के सांचौर क्षेत्र के गांवों से रेलवे लाइनें गुजरेगी, यहां रेलवे स्टेशन बनने प्रस्तावित है। -गोपाल शर्मा, पीआरओ, रेलवे जोधपुर 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top