जोधपुर रेल मडल ने सांसदों के साथ की बैठक, विभिन्न मुददो पर की चर्चा
जोधपुर 
उत्तर पष्चिम रेलवे के जोधपुर मण्डल के क्षेत्राधिकार में आने वाले सांसदों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में माननीय सांसदों व रेल अधिकारियों ने रेल विकास पर विस्तृत चर्चा की।
उत्तर पष्चिम रेलवे के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी तरूण जैन के प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया की इस बैठक में जोधपुर सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत जालोर सांसद देवजी पटेल, बीकानेर सांसद अर्जुनराम मेघवाल, बाड़मेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी, नागौर सांसद सी.आर. चौधरी, राजसंमद सांसद हरिओमसिंह राठौड, तथा राज्य सभा सांसद रामनारायण डूडी, ने भाग लिया। 
उत्तर पष्चिम रेलवे के महाप्रबंधक अनिल सिंघल ने सभी सांसदों का स्वागत करते हुये कहा कि उत्तर पष्चिम रेलवे पर सुरक्षा पर विषेष ध्यान केन्द्रित किया जा रहा है और इस पर कार्य करते हुये हमने वर्ष 2014-15 में LHS व 12ROBs का निर्माण किया और इस वर्ष रेल बजट में इन कार्यों के लिये 800 करोड़ का बजट आंवटित किया गया हैं। साथ ही UMLCs पर सडक उपयोगकर्ताओं को समझाने के लिये गेट मित्र की नियुक्ति की गई है। साथ ही उन्होनें कहा कि उत्तर पष्चिम रेलवे मेल/एक्सप्रेस के संचालन में अक्टूबर माह तक 93 प्रतिषत के समय पालन को प्राप्त कर भारतीय रेल में प्रथम स्थान पर हैं। इसके अतिरिक्त उन्होनें रेलवे में सफाई व्यवस्था, निर्माण परियोजनाओं तथा यात्री सुविधाओं के कार्याें पर प्रकाष डाला। 

सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने बैठक में बायतु स्टेशन को आदर्ष स्टेषन में विकसित कर सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाना, मुनाबाव स्टेशन पर सुविधाओं का विस्तार, मण्डोर एक्सप्रेस का बाडमेर तक विस्तार, जैसलमेर स्टेशन पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था तथा जैसलमेर-बाड़मेर-कांदला नई रेल लाइन के मुद्दों को रेल प्रषासन के समक्ष रखा।

सांसद अर्जुन राम मेघवाल ने बैठक के लिये रेल प्रशासन को धन्यवाद दिया व इस प्रकार की बैठक नियमित करने की आवष्यकता बताई। उन्होनें संरक्षा संबंधी कार्यों की समय सीमा तय करने, आदर्ष व माडर्न स्टेषनों पर यात्री सुविधाओं मे खर्च की राषि, विद्युतीकरण, पष्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर ;(DFCC), यात्री भार में गिरावट, नोखा व देषनोक स्टेषनों को बीकानेर मण्डल मंे षामिल करने तथा RUBs/ROBs के कार्य मनरेगा के तहत करवाने तथा दक्षिण भारत के लिये ट्रेनों की संख्या व फेरे बढाने जैसे विषयों पर चर्चा की।

सांसद सी.आर. चौधरी ने बैठक में नई परबतसर-किषनगढ़ नई लाइन, डेगाना-फुलेरा दोहरीकरण कार्य की स्थिति, विद्युतीकरण, प्लेटफार्म की ऊंचाई बढाने, मेडता-पुष्कर रेल लाइन की वर्तमान स्थिति, यात्री गाडियों के ठहराव, जोधपुर-दिल्ली सराय को प्रतिदिन करने, लिलण एक्सप्रेस में एसी कोच लगाने, दक्षिण भारत के लिये प्रतिदिन रेलगाडी तथा यात्री सुविधाओं में सुधार के लिये विचार व्यक्त किये।

सांसद हरिओम सिंह राठौड, ने डेगाना स्टेषन पर अतिक्रमण व सुलभ षौचालय की सुविधा, रेन स्टेषन पर बुटाटी धाम आने वाले विकलांग यात्रियों के लिये सुविधाएं उपलब्ध करवाने तथा मेडता रोड-मेडता सिटी के मध्य रेल बस के फेरे बढाने व डेमू रेल सेवा प्रारम्भ करने जेैसे बिंदुओं को रेल प्रषासन के समक्ष रखा।

सांसद देवजी पटेल ने समदडी-भिलडी रेलखण्ड पर ROBs/RUBs के कार्य प्रारम्भ व समय सीमा, समदडी-भिलडी रेलखण्ड पर डेमू ट्रेन का संचालन, दादर-बीकानेर एक्सप्रेस प्रतिदिन चलाने, जैसलमेर-कांदला व सांचोर-रानीवाडा नई रेल लाइन के सर्वे की स्थिति तथा आबूरोड स्टेषन पर यात्री सुविधाओं के कार्यों पर चर्चा की।

राज्यसभा सांसद रामनारायण डूडी ने विचार रखते हुये कहा कि पष्चिमी राजस्थान के विकास में रेलवे की महत्वपूर्ण भूमिका है, जिसमे नई रेलगाडियों का संचालन, फेरे बढाना तथा गाडियों का विस्तार कर यात्रियों को सुविधा प्रदान करना प्रमुख है। बिलाडा-बर रेल लाइन के कार्य का प्रारम्भ करने तथा रेल सम्पर्को को मजबूत बनाने पर बल दिया।

सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत ने बैठक में कहा कि जोधपुर केंट पर रेलवे ने यात्री गाडियों के ठहराव के लिये रेल प्रषासन को धन्यवाद दिया और कहा कि इस स्टेषन पर और अधिक गाडियों का ठहराव होना चाहिये साथ ही उन्होने कहा कि जोधपुर स्टेषन पर बढते हुये यात्री भार को देखते हुये भगत की कोठी स्टेषन को एक अतिआधुनिक उपनगरीय स्टेषन के रूप में विकसित करना आवष्यक हो गया है। इस स्टेषन पर यात्री सुविधाआंे का विस्तार करके यहां से मुम्बई, दक्षिण भारत व बाडमेर की ओर चलने वाली गाडियों का संचालन षुरू किया जाना चाहिये। रेलवे तथा जनप्रतिनिधियों को इसके लिये मिलजुल कर कार्य करने होगे ताकि यहां से यात्री गाडियों का संचालन हो सके। इसके साथ ही उन्होने कहा कि काॅनकोर डिपों को भी यहां से हटाकर सालावास ले जाना चाहिये ताकि भगत की कोठी स्टेषन पर अधिक जगह मिल सकेगी। ट्रेनों फेरे बढाने पर उन्होनें विषेष रूप से बल दिया बनाड-मण्डोर बाइपास के कार्य को जल्द करने का विचार रखा। लूनी स्टेषन पर यात्रियों को राहत देने हेतु उन्होनंे रानीखेत एक्सप्रेस, बीकानेर -बांद्रा एक्सप्रेस तथा जोधपुर-यषवंतपुर के ठहराव की बात रखी। इसके साथ ही मण्डोर एक्सप्रेस को हरिद्वार तक चलाने का प्रस्ताव भी रखा तथा रामदेवरा स्टेषन पर मेले के दौरान विषेष व्यवस्थाएं व जोधपुर-पोकरण के मध्य डेमू ट्रेन चलाने तथा फलौदी-रामदेवरा रेलखण्ड पर स्वीकृत त्व्ठे के कार्य षीघ्र प्रारम्भ करने के विचार रेलवे प्रषासन के समक्ष रखे।

बैठक मण्डल रेल प्रबंधक राहुल कुमार गोयल, वरि. उपमहाप्रबंधक राजीव शर्मा, मुख्य प्रषासनिक अधिकारी-निर्माण चाहते राम, प्रमुख मुख्य इंजीनियर पी.के. सांघी, मुख्य वाणिज्य प्रबंधक दीपक छाबडा , मुख्य परिचालन प्रबंधक अरविंद कुमार, मुख्य यान्त्रिक इंजीनियर भूषण पाटिल तथा सचिव-महाप्रबंधक नवीन अग्रवाल सहित शाखा अधिकारी सम्मलित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top