शिक्षा एवं संस्कार शिविर का हुआ आयोजन, होनहारो को पुरस्कार से नवाजा
बाड़मेर।
सीमावर्ती क्षेत्र में ईल्म से कौसो दूर रहे तालिम की रोशनी से महरूम मुस्लिम समुदाय में तालिम की रोशनी से अपनी जीवन को रोशन करने के मकसद से परवाज एज्युकेशन सोसायटी की ओर से स्थानीय सिंधी मुस्लिम छात्रावास में बच्चों का संस्कार/शिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। बिसासर सरपंच नवाज अली दर्ष ने बताया कि शिविर की अध्यक्षता मुस्लिम धर्म गुरू पीर सैयद नूरूल्लाहशा बुखारी ने की वही कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आर.ए.एस. अधिकारी अबरार अहमद ने की। शिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए अबरार अहमद ने कहा कि शिक्षा समाज के उत्थान का मूलमंत्र हैं। हमारे समाज में आज भी शिक्षा की कमी के चलते हमारे युवा आगे नहीं बढ पा रहे हैं। उन्होेने बच्चो से कहा कि वो शिक्षा से जुड़े और उच्च शिक्षा को लक्ष्य बनाकर समाज के विकास में अहम भूमिका अदा करें। अबरार अहमद समाज के मौजिज लोगो से अपील की कि वो अपने बच्चों को पढाए और उनकी मदद के लिए आगे आये। बच्चों की मदद के लिए शैक्षणिक छात्रवृति उच्च शिक्षा केे लिए कोचिंग सुविधा, आर्थिक क्षेत्र से कमजोर होनहार बालको को मदद करने के लिए आगे आये और एक ऐसे समाज का निर्माण करें जिससे हर कौम इससे प्रेरणा ले सकें। शिविर में 10 वीं और 12 वीं पास करने वाले बालको को आगे के केरियर के लिए मार्ग दर्शन प्रदान किया गया। शिविर को संबोधित करते हुए मुस्लिम धर्म गुरू पीर सैयद नूरूल्लाह शाह बुखारी ने कहा कि ईल्म की रोशनी के बगैर किसी समाज का भल्ला नही हो सकता। आइये संकल्प ले कि हम हमारे मजहब के हर बच्चे की शिक्षा के लिए तन, मन, धन से सहयोग करेंगे। उन्होने समाज के मौजिज लोगो को भी शिक्षा से जोड़ने के लिए आह्वान किया। कार्यक्रम में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष फतेह खां ने भी कहा कि आज कोई भी क्षेत्र हो चाहे वो प्रशासनिक क्षेत्र है या राजनैतिक क्षेत्र हो बिना ईल्म की रोशनी के आगे नही बढ सकता। अलीगढ से आये अलीगढ मुस्लिम छात्र संगठन के अध्यक्ष आजम अली बैग ने कैरियर को लेकर बच्चों को विस्तार से जानकारी प्रदान की और कहा कि वो किसी भी समय कैरियर को लेकर सीधा मेरे सम्पर्क कर बात कर सकते हंै। भाजपा के जिला उपाध्यक्ष असरफ अली ने बताया कि खुदा नेक काम के लिए हमे इस जहां में भेजा है तो क्यो न हम शिक्षा के क्षेत्र में ऐसा काम करें जिससे आने वाली पीढिया शिक्षा के क्षेत्र मे अग्रणी बन सकें। शिविर में होनहार बालको को पुरस्कार से अतिथियों द्वारा नवाजा गया। इस अवसर पर ईशाखां राजड़, सैयद गुलाम शाह, सैयद मीठन शाह, अल्पसंख्यक कार्यक्रम अधिकारी सोबदार खां, रहीम दर्ष, शरीफ खां जैसिन्धर, के.के. समेजा, असरफ अली खिलजी, रहुफ राजा, मंजूर जुनेजा, कायम खां दर्ष, सुजा मोहम्मद शाह, मुजिद समेजा, करीम समेजा, हज सेवक बच्चु खां कुम्हार, जमीर दर्ष, हमजा खां, कासम खां सहित कई लोग उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top