स्वर्ण नगरी में शहीद गोपा जी को किया गया श्रद्वा सहित स्मरण
शहादत स्थल पर सागरमल गोपा को पुष्पांजलि अर्पित

जैसलमेर
स्वर्ण नगरी जैसलमेर में शनिवार को जग विख्यात सोनार दुर्ग स्थित उनके शहादत स्थल पुरानी जैल में शहीद सागरमल गोपा की 69 वीं पुण्यतिथि बलिदान दिवस के रुप में मनाई गयी। इस अवसर पर शहीद गोपा जी को उनके परिवाजनों एवं जिले के गणमान्य नागरिकों और प्रबुद्वजनों ने श्रद्धा सहित स्मरण कर उन्हें श्रद्धाजलि अर्पित की गई।
इस अवसर पर नगर के गणमान्य नागरिक मुकेष गज्जा ,उम्मेद व्यास ,लक्ष्मण पुरोहित ,आनन्द केवलिया ,पंकज केवलिया , शहीद गोपा जी के परिजनों बालकृष्ण गोपा ,ललित ,महेष तथा राकेष गोपा के साथ ही विद्यालय परिवार से ओम प्रकाष व्यास ,मदनलाल गज्जा ,संगीता तँवर ,संतोष पुरोहित और प्रेम जीनगर आदि ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उल्लेखनीय हैं कि इसी शहादत स्थल पर विगत 4 अप्रेल 1946 को शहीद सागरमल जी गोपा शहीद हुए थे। शहीद गोपा जी के परिजन बालकृष्ण गोपा ने उनके जीवन वृतांत पर प्रकाष डालते हुए कहा कि हम सभी को गोपा जी द्वारा दी गई शहादत पर गर्व होना चाहिए तथा उनके बलिदान को जैसलमेर वासियों के साथ ही संपूर्ण राष्ट्र कभी भी भूला नहीं पाएगें। अंत में बाल कृष्ण गोपा ने सभी का आभार प्रकट किया।
अमर शहीद सागरमल गोपा का बलिदान दिवस श्रद्धापूर्वक मनाया गया
अमर शहीद सागरमल गोपा के 69 वें बलिदान दिवस के उपलक्ष्य में एतिहासिक नगरी जैसलमेर में गड़सीसर प्रोल स्थित गोपा स्मारक पर श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन रखा गया। इस अवसर पर जैसलमेर के ऊर्जावान विधायक छोटूसिंह भाटी , जिला प्रमुख अंजना मेघवाल , नगरपरिषद सभापति कविता कैलाष खत्री ,पूर्व विधायक गोवर्द्धन कल्ला , नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष उम्मेदसिंह तँवर , पूर्व प्रधान मूलाराम चैधरी ,पार्षद आनन्द व्यास , आनन्द केवलिया , समाजसेवी रामरतन बिस्सा , मीठ्ठालाल व्यास ,बालकृष्ण जगानी ,श्रीवल्लभ पुरोहित ,भँवरलाल बल्लाणी ,संतौष व्यास , महेष पुरोहित ,महेष बिस्सा , लक्ष्मण गोपा , कैलाष गोपा , राहुल गोपा ,आदित्य गोपा ,हर्षित केवलिया ,नरेष केवलिया , उनके परिवारजन बालकृष्ण गोपा सहित नगर के गणमान्य नागरिक व प्रबुद्धजन मौजूद थे।
इस अवसर पर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल ने गोपा जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करते कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में अपने बलिदान के साथ सामन्तषाही के विरुद्ध अपनी आवाज बुलन्द करने वाले गोपा जी ने प्रतिबंधों के बावजूद तत्कालीन शासन का विरोध कर समाचार-पत्र एवं पुस्तकों के माध्यम से स्वतंत्रता की अलख जगायी इसलिए मैं उनके बलिदान के फलस्वरुप ही आज मंच से आप सभी को उद्बोधित कर रही हूं। उन्होंने उनके जीवन से प्रेरणा ग्रहण कर राष्ट्रीयता की मिषाल को कायम रखने पर विषेष बल दिया।
बलिदान दिवस के दौरान विधायक छोटूसिंह भाटी ने अपने वक्तव्य में कहा कि गोपा जी ने तत्कालीन शासन पद्वति के दोषों को जनसमुदाय के समक्ष निडर होकर रखने के साथ ही शासन में पारदर्षिता लाने के साथ ही जैसलमेर रियासत के चहुँमुखी विकास के लिए उनकी दूरगामी दृष्टि से प्रेरित होकर युवाओं को आज के युग में परस्पर समन्वय बनाए रखते उत्तरोत्तर विकास के मार्ग पर चलने को कहा।
इस अवसर पर नगरपरिषद की अध्यक्षा कविता खत्री ने आज के दिन संकल्प ग्रहण कर शहीदों के बताए मार्ग का अनुसरण कर आजादी की राह में उनक बलिदान को शहादत के जगत में चिरस्थायी जैसलमेर को विष्व मानचित्र पर अमिट एवं अनुकरणीय अंकित कराने की आवष्यकता जताई।
पूर्व विधायक गोवर्द्धन कल्ला ने गोपा जी के एतिहासिक बलिदान की चर्चा करते हुए कहा कि उनके द्वारा राष्ट्र के लिए दिए गए योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता हैं। उम्मेदसिंह तंवर कहा कि गोपा जी की शहादत ने जनता के आक्रोष को एक नई दिषा दी और सभी प्रकार की गुलामी के बंधनों को तोड़ फैंकने के संकल्प को उन्होंने मजबूती प्रदान की जो अपने आप में एक अनुकरणीय मिषाल हैं।
गोपा जी के परिवारजन बालकृष्ण गोपा ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि उनकी शहादत के जज्बे को आज के परिपे्रक्ष्य में प्रांसगिक बताते हुए हम सभी को जैसलमेर जिले के विकास में अग्रसर होना हैं। इस कार्यक्रम का सफल संचालन रचनाकर्मी आनन्द जगाणी एवं नरेष केवलिया ने किया। बलिदान दिवस के उपलक्ष्य में सभी महानुभावों ने दो मिनट का मौन रख कर गोपा जी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस मौके पर गोपा जी की प्रतिमा पर अतिथिगणों व परिवारजनों द्वारा माल्यार्पण कर पुष्पाजंलि अर्पित की गयी। अंत में नरेष केवलिया ने सभी आगन्तुक अतिथिगणों का तहेदिल से आभार प्रदर्षित किया।ष्

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top