बाड़मेर बसों का नये बस स्टेण्ड से संचालन करे : शर्मा 
बाडमेर।
जिला कलेक्टर मधुसूदन शर्मा ने शहर में माकूल सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। वे सोमवार को अपने कक्ष में जिले की पेयजल, विद्युत एवं चिकित्सा इन्जमामों तथा नगर परिषद के कार्यो की समीक्षा कर रहे थे।
इस अवसर पर जिला कलेक्टर शर्मा ने नगर परिषद आयुक्त को कचरा संग्रहण स्थल का चयन कर तीन दिन में अवगत कराने के निर्देश दिए। उन्होने जिला मुख्यालय पर रात्रीकालीन सफाई व्यवस्था में कार्मिकों की संख्या बढाने को कहा। साथ ही उन्होने रात्रीकालीन प्रकाश व्यवस्था दुरस्त करने को कहा। उन्होने कहा कि जिले में पड रही ठण्ड के मद्दे नजर जिला मुख्यालय एवं बडे स्थानों पर संचालित रैन बसेरों में सभी आवश्यक प्रबन्ध किए जाए। उनकी पर्याप्त साफ सफाई के अलावा यहां रात्रि विश्राम के सभी आवश्यक प्रबन्ध किए जाए। उन्होने नये साल से मुख्य मार्गो की बसों का नये बस स्टेण्ड से संचालन करने के निर्देश दिए। साथ ही प्राईवेट बसों के संचालन हेतु स्थान निर्धारण के आदेश जारी करने को कहा।
जिला कलेक्टर ने चिकित्सा व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत धीमी प्रगति पर तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होने इसके लिए आंगनवाडी कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया जाकर प्रतिमाह लक्ष्य निर्धारित कर परिवार कल्याण में प्रगति लाने को कहा। उन्होने निः शुल्क दवा योजना की प्रभावी माॅनिटरिंग के निर्देश दिए तथा पर्याप्त मात्रा में दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही उन्होने मौसमी बीमारियों की रोकथाम हेतु पुख्ता प्रबन्ध करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने पेयजल योजनाओं की समीक्षा के दौरान जिले में नियमित तथा सुचारू पेयजल आपूर्ति करने के निर्देश दिए। उन्होने स्वीकृत हैण्डपम्पों की खुदाई कार्य में गति लाने तथा खराब हैण्डपम्पों की शीध्र मरम्मत कराने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि भौतिक सत्यापन के दौरान समस्याओं के समाधान में किसी प्रकार की कमी या लापरवाही पाए जाने पर जिम्मेवारी तय कर सख्त कार्यवाही की जाएगी। बैठक में पेयजल योजनाओं के विद्युतिकरण आदि की प्रगति की समीक्षा पश्चात् जिला कलेक्टर ने बकाया विधुतिकरण का कार्य शीध्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर ओम प्रकाश विश्नोई, मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपालराम बिरडा, उपखण्ड अधिकारी मुकेश चैधरी, नगर परिषद आयुक्त धर्मपाल जाट, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.के.एस. बिष्ट, अधीक्षण अभियन्ता डिस्काॅम प्रेमजीत धोबी, जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियन्ता सोनाराम बेनीवाल समेत संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top