मतदाता खामोश जातिगत आंको में उलझे समीकरण
बाड़मेर 
लोकसभा चुनावो में मतदान के दौर सियाय मतदान केन्द्रो के अन्य जगह ख़ामोशी थी ,वोटो को लेकर कुछ विधानसभा क्षेत्रो में खासा उत्साह देखा गया तो कुछ स्थानो पर ख़ामोशी ,जातिगत बाहुल्य क्षेत्रो में अपने अपने उम्मीदवारों को लेकर खासी चहल पहल , वाही कुछ स्थानो पर मतदाता ख़ामोशी से वोट देकर रवाना हो गए ,वोट किसको दिया इस पर चर्चा करना भी वो मुनासिब नहीं समझता। 

मुस्लिम मेघवाल वोटो पर नज़र 

मतदान के बाद तीनो उमीदवार भाजपा के करनाल सोनाराम ,कांग्रेस के हरीश चौधरी और निर्दा;लिय जसवंत सिंह के समर्थक जातिगत आंकड़ों में उलझे हैं ,मुस्लिम मतों पर सबकी नज़र हैं मोटे टायर पर मुस्लिम मत जसवंत सिंह और कांग्रेस के हरीश चौधरी में बंटे हैं इक्का दुक्का वोट सोनाराम को आने की उम्मीद हैं वाही मेघवाल मत तीनो में गए हैं ,जाट वोट करनाल सोनाराम और हरीश चौधरी के बीच बंटे हैं वाही राजपूत वोट एक मुश्त जसवंत सिंह को मिलाने की उम्मीद जताई जा रही हैं भाजपा उम्मीदवार को भीतरघात का ख़तरा सता रहा हैं वाही हरीश चौधरी इतना प्रयास कर रहे थे की जमानत बच जाये ,करनाल सोनाराम की हर जीत मूल ओ बी सी के वोटर तय करेंगे साथ ही जैन समाज ,विश्नोई ,माली , निर्दलीय के पक्ष में दिखे। समर्थक जोड़ तोड़ कर आंकड़ा जीत तक पहुंचा रहे हैं। अलबत्ता बाड़मेर जैसलमेर की जनता ने दिल खोल कर वोट दिए। कई स्थानो पर फर्जी मतदान भी जमकर हुआ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top