टीम इंडिया के धुरंधर फिर फेल

नागपुर। 
क्रिकेट के बादशाह सचिन तेंदुलकर का बोल्ड होने का सिलसिला नागपुर में चौथे और अंतिम टेस्ट में भी बरकरार रहा और वह भारत की पहली पारी में तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की एक खूबसूरत इनस्विंगर पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। उधर विस्फोटक ओपनर वीरेन्द्र सहवाग ने शून्य पर आउट होने के मामले में पूर्व भारतीय कप्तान और आलराउंडर कपिलदेव की बराबरी कर ली है।

लगातार खराब प्रदर्शन के कारण आलोचकों का निशाना बन चुके सचिन एक बार फिर अपने बल्ले से आलोचकों को जवाब नहीं दे सके और 13 गेंदों में मात्र दो रन बनाकर एंडरसन का शिकार बन गए। एंडरसन ने इस तरह सचिन को नौंवी बार आउट कर क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारतीय बल्लेबाज को सर्वाधिक बार आउट करने का रिकार्ड अपने नाम कर लिया। एंडरसन ने 14 टेस्टों में नौवीं बार सचिन को आउट किया है। 

वह सचिन को दो बार बोल्ड कर चुके हैं, दो बार क्षेत्ररक्षक के हाथों कैच करा चुके हैं, दो बार विकेटकीपर के हाथों कैच करा चुके हैं और तीन बार उन्हें पगबाधा कर चुके हैं। एंडरसन ने सचिन को सर्वाधिक बार आउट करने के मामले में श्रीलंका के आफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को पीछे छोड़ा जिन्होंने मास्टर व्लास्टर को 19 टेस्टों में आठ बार आउट किया था। सचिन के लिए पिछली नौ पारियों में यह पांचवां मौका है जब वह बोल्ड हुए। 

मुंबई में दूसरे टेस्ट की पहली पारी में सचिन लेफ्ट आर्म स्पिनर मोंटी पनेसर की गेंद पर बोल्ड हुए थे। इससे पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ अगस्त में दो टेस्टों में तीन पारियों में वह लगातार बोल्ड हुए थे। सचिन 194 मैचों के अपने टेस्ट करियर में 53वीं बार बोल्ड हुए हैं और टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक बार बोल्ड होने के मामले में वह आस्ट्रेलिया के एलेन बार्डर 53 बार की बराबरी पर पहुंच गए हैं। अब उनसे आगे हमवतन राहुल द्रविड 55 बार हैं। 



चौथी बार सचिन फेल

विश्व रिकार्डो के बादशाह सचिन इस सीरीज में चौथी बार दहाई की संख्या में पहुंचने में नाकाम रहे। उन्होंने अहमदाबाद की पहली पारी में 13 रन बनाए थे जबकि मुंबई में दूसरे टेस्ट में दोनों पारियों में वह आठ-आठ रन बना पाए। कोलकाता में तीसरे टेस्ट की पहली पारी में जरूर उन्होंने 76 रन बनाए लेकिन दूसरी पारी में वह पांच रन पर ही निपट गए। इस वर्ष जनवरी में सिडनी में 80 रन बनाने के बाद सचिन ने 13 पारियों में सिर्फ एक अर्द्धशतक बनाया है। इन 13 पारियों में उनके बल्ले से 15, 8, 25, 13, 19, 17, 27, 13, 8, 8, 76, 5 और 2 के स्कोर निकले हैं। एंडरसन की गेंद पर बोल्ड होने के बाद आलोचक फिर से यह सवाल जरूर उठाएंगे कि सचिन को जो फैसला करना है वह जल्द से जल्द करे।

सहवाग 16वीं बार फुस्स

सहवाग इंग्लैंड के खिलाफ यहां चल रहे चौथे और अंतिम टेस्ट मेंभारत की पहली पारी के पहले ओवर की तीसरी गेंद पर शून्य पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। सहवाग को तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने बोल्ड किया। सहवाग पूरी तरह रक्षात्मक थे लेकिन गेंद की गति से बीट हो गए। एंडरसन की गेंद उनके बल्ले के पास से निकलते हुए स्टंप में घुस गई। सहवाग अपने करियर में 16वीं बार बोल्ड हुए हैं और इसके साथ ही उन्होंने कपिलदेव की बराबरी कर ली। कपिल 131 टेस्टों में 16 बार शून्य पर आउट हुए थे जबकि सहवाग 102 टेस्टों में 16 बार शून्य पर आउट हुए हैं। भारतीय बल्लेबाजों में सर्वाधिक बार शून्य पर आउट होने के मामलेमें अब सहवाग से आगे अनिल कुंबले 17 बार, हरभजन सिंह 18 बार, बिशन सिंह बेदी 20 बार, भागवत चंद्रशेखर 23 बार और जहीर खान 27 बार हैं। सर्वाधिक बार शून्य पर आउट होने का ओवरआल रिकार्ड वेस्टइंडीज के कर्टनी वाल्श के नाम है जो 132 टेस्टों में 43 बार शून्य पर आउट हुए हैं।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top