बालिका जन्म की प्रोत्साहन राशि अब सीधे खाते में
बाड़मेर।
प्रदेश में संचालित मुख्यमंत्री राजश्री योजना के तहत् राजकीय चिकित्सा संस्थानों एवं जेएसवाई में पंजीकृत निजी चिकित्सालयों में जन्म लेने वाली प्रत्येक बालिका के जन्म पर देय 2500 रुपए प्रथम प्रोत्साहन राशि का भुगतान 15 अगस्त से सीधे प्रसूता के बैंक खाते में जमा स्थानान्तरित किया जाएगा। चिकित्सा विभाग देय प्रथम किश्त का भुगतान 14 अगस्त की रात्रि 12 से पूर्व जन्मी बच्चियों को किश्त का भुगतान वर्तमान प्रावधान के अनुसार चैक के जरिए करेगा। 
मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन नवीन जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री राजश्री योजना के अंतर्गत देय बालिका जन्म पर प्रथम किश्त एवं एक वर्ष की आयु तक समस्त टीके लगवाने पर द्वितीय किश्त के रूप में 2500-2500 रुपए ओजस ऑनलाइन सॉफ्टवेयर के माध्यम से सीधे बालिका की मां के बैंक खाते में जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि ओजस सॉफ्टवेयर में आवश्यक संशोधन कर इसके प्रचालन का प्रशिक्षण संबंधित कार्मिकों को दिया जा रहा है। इस संबंध मंे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चिकित्सा विभाग के अधिकारियांे को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा उद्घोषित बालिका जन्म का बधाई संदेश संबंधित मोबाइल पर ध्वनि रूप में संचारित करने की नवाचार व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि सीएचसी तक के अस्पतालों में ‘ओजस‘ ऑनलाइन सॉफ्टवेयर के द्वारा जननी सुरक्षा योजना व पूर्व संचालित शुभलक्ष्मी योजना के सुलभ ऑनलाइन भुगतान के परिणामस्वरूप आगामी 2 माह में मुख्यमंत्री राजश्री योजना सहित तीनों योजनाओं की देय राशि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व उपस्वास्थ्य केन्द्रों के लाभार्थियों को भी उनके खाते में सीधे ही जारी करने की पारदर्शी व्यवस्था उपलब्ध होगी। प्रसव पश्चात् चिकित्सालय से डिस्चार्ज के समय प्रथम किश्त के भुगतान करने संबंधी जिम्मेदारी जिलास्तर पर संभागीय संयुक्त निदेशकों की होगी एवं त्रिस्तरीय पेमेंट वेरीफिकेशन के पश्चात् उनके द्वारा ही लाभाथिर्यों को ऑनलाइन भुगतान किया जाने की व्यवस्था की गई है। फिकेशन रिपोर्ट प्राप्ति के 48 घंटे में भुगतान जारी नहीं होने की स्थिति में स्वीकृति के लिए भुगतान के प्रस्ताव ऑटोमेटिक राज्य स्तर से जारी किए जा सकेंगे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top