बाड़मेर को खुले में शौच से मुक्त कराने का लिया संकल्प
बाड़मेर।
जिला मुख्यालय पर जाट चेरिटेबल ट्रस्ट मंे स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला स्तरीय संदर्भ समूह का पांच दिवसीय प्रशिक्षण शुक्रवार को बाड़मेर जिले को खुले मंे शौच से मुक्त करवाकर ओडीएफ घोषित करवाने के संकल्प के साथ संपन्न हुआ। इस दौरान संभागियांे ने मोमबतियां जलाकर इस अभियान मंे सक्रिय भूमिका निभाने का भरोसा दिलाया।
इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन अभियान मंे आमजन की सक्रिय भागीदारी जरूरी है। इसके लिए वृहद स्तर पर जागरूकता गतिविधियां चलाने के साथ आमजन को स्वच्छता के महत्व बताया जाए। उन्हांेने यह बताया जाए कि घर मंे शौचालय निर्माण करवाकर उसके उपयोग करने के क्या फायदे है। उन्हांेने कहा कि आम आदमी की सक्रिय भागीदारी से ही बाड़मेर को खुले मंे शौच से मुक्त कराने का सपना साकार हो सकता है। उन्हांेने जिला संदर्भ समूह के संभागियांे से ग्रामीण स्तर पर जाकर इस अभियान मंे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का आहवान किया। इस दौरान जिला परियोजना समन्वयक पुष्पेन्द्रसिंह सोढा ने बताया कि ग्राम स्तर पर एक-एक निगरानी दलांे का गठन किया गया है। यह निगरानी समितियां प्रतिदिन खुले मंे शौच जाने वाले लोगांे को इससे होने वाली बीमारियांे एवं महिलाआंे के सम्मान के लिए समुदाय को जागरूक कर ग्राम पंचायत को खुले मंे शौच से मुक्त करने के लिए प्रेरित करेंगे। समापन समारोह मंे डब्ल्यूएसपी के चेतन अत्रे, रमेश अग्रवाल ने समुदाय को खुले मंे शौच बंद करने के लिए समुदाय स्वचालित संपूर्ण स्वच्छता विधि से प्रेरित करने की आवश्यकता जताई। राणीगांव ग्राम पंचायत मंे भी फील्ड विजिट के दौरान टिंगरिग एवं मोनेटरिंग फालोअप के माध्यम से समुदाय को खुले मंे शौच बंद करने के लिए समुदाय स्वचालित संपूर्ण स्वच्छता विधि से प्रेरित किया गया। ग्रामीणांे ने भरोसा दिलाया कि ग्राम पंचायत को खुले मंे शौच से मुक्त करवाकर ओडीएफ ग्राम पंचायत घोषित करवाएंगे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top