सांसद अपने बाड़मेर निवास की भी जाँच करवाये : विधायक मेवाराम जैन 
बाड़मेर
राजस्थान के बाड़मेर ज़िले में कांग्रेस और भाजपा में पिछले करीब एक वर्ष से चल रहा घमासान रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है पिछले एक साल में कई बार भाजपा सांसद और काँग्रेस विधायक एक दूसरे पर आरोप लगा चुके है। मंगलवार को बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन सहित 14 नगरपरिषद कार्मिको के खिलाफ नियम विरुद्ध पट्टे जारी करने के मुकदमा दर्ज होने के दूसरे ही दिन बुधवार को बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने प्रेसवार्ता कर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर झूठा फंसाने का आरोप लगाया। और तो और मेवाराम ने सांसद के खिलाफ भी अनियमितताओं के आरोप लगाए। और कहा अगर मेरे राजनीती कॅरियर में अगर मैंने किसी का एक भी पैसा खाया है तो मैं विधायकी छोडने के लिए तैयार हूँ। विधायक ने सांसद को आड़े हाथो लेते हुए कहा जिनके घर कांच के होते हैं वो दूसरो पर पत्थर नही फैंके। सांसद कर्नल सोनाराम पहले अपने उत्तरलाई रोड़ स्थित मकान की जांच करवाएं। 
पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक मेवाराम जैन ने कहा कि सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी का एक ही काम है मेरी शिकायते करना और उन्हौने कहा कि मेरे कार्यकाल में फर्जी पट्टे जारी हुए है तो उसकी नियमानुसार 16 कर्मचारियों को 16 सीसी नोटिस जारी कर कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होंने सांसद पर आरोप लगाते हुए कहा खुद का बंगला अवैध तरीके से बना हुआ है। जैसलमेंर में सांसद की बनी होटल का निर्माण भी अवैध हो रहा है इसकी भी जांच होनी चाहिए। उन्हौने आरोप को नकारते हुए कहा कि बाड़मेर की जनता मेरे साथ है में अन्याय के खिलाफ लड़ता रहूंगा। उन्हौने सांसद पर जमकर आरोप लगाते हुए कहा कि मेने किसी से एक रुपया भी लिया है तो में राजनीति से सन्यास ले लूंगा। उन्हौने कहा पालिका अध्यक्ष रहते हुए मेने सरकारी गाड़ी का भी उपयोग तक नहीं लिया गया है। मैं उस समय स्कूटर पर घुमकर शहर की जनता की समस्याएं सुनता था और उन्हौने कहा कि सांसद को शहर क्षेत्र से वोट नहीं मिले इसकी कसर मेरे से निकाल रहे है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top