बाड़मेर आनंदपाल के परिवार पर हो रहें अन्याय के खिलाफ समाज हुआ एकजुट, सौपा ज्ञापन 

बाड़मेर। नागौर जिले के सांवराद गांव के रावणा राजपूत परिवार को बेवजह कथित मुल्जिम आनंदपालसिंह के साथ जोड़कर उनके परिवार व अन्य रिश्तेदारों पर झूठे मुकदमें रचकर पुलिस प्रशासन द्वारा परेशान करने के विरोध में रावणा राजपूत समाज बाड़मेर ने शानिवार को मुख्यमंत्री के नाम अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की।

रावणा राजपूत समाज ने ज्ञापन में बताया कि समाज राजस्थान पुलिस द्वारा घोषित किसी भी मुल्जिम के पक्ष में नहीं है लेकिन पुलिस प्रशासन द्वारा कथित मुलजिम के परिवारजनों को बेवजह परेशान कर उनके विरूद्ध झूठे मुकदमें दर्ज कर अपनी नाकामयाबी को छुपाने के लिए जो कार्यवाही कर रहा है उसका रावणा राजपूत समाज पुरजोर विरोध करता है। 

राजस्थान के नागौर जिले के लाडनू तहसील के गांव सावराद में स्व. हुकमसिंह की धर्मपत्नी, पुत्र वधू, पौत्री व अन्य रिश्तेदारों को पुलिस प्रशासन द्वारा परेशान करने की नियत से दबाव बनाया जा रहा है, जो स्पष्ट करता है कि राजस्थान पुलिस कथित मुलजिम आनंदपालसिंह को गिरफ्तार करने में नाकामयाब हो रही है। इसी वजह से पुलिस द्वारा उनके परिवार पर दबाव बनाया जा रहा है। राजस्थान में और भी कई अपराधी रहे है, लेकिन उन अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए कभी भी उनके परिवार को फंसाया नहीं गया है वह उन पर झूठे मुकदमें नहीं बनाये गये है। लेकिन पुलिस द्वारा इस प्रकरण में आनंदपाल सिंह के परिवार पर झूठे मुकदमें बनाकर उसे परेशान कर रही है। और तो और विदेश में पढ रही आनंदपालसिंह की पुत्री के विरूद्ध भी सरकार रेड कार्नर नोटिस जारी कर उसके भविष्य को बर्बाद करने पर तुली है। 

राजस्थान राज्य के सम्पूर्ण रावणा राजपूतों कें उक्त कृत्य का विरोध है तथा समाज का प्रत्येक व्यक्ति चाहता है कि वेवजह उनके परिवार को परेशान नहीं किया जाये। अन्यथा इस समाज में उत्पन्न हुए इस रोष के लिए सरकार व प्रषासन की सम्पूर्ण जिम्मेदारी होगी। 

साथ ही साथ समाज द्वारा गफूर भट्टा प्रकरण में पुलिस की नाकामायाबी के कारण 55 दिन गुजर जाने के बावजूद भी मकान जलाने वाले, लूटपाट करने वाले, को पुलिस आज तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है इसी प्रकरण में पीड़ित परिवार के पक्ष में समाज के लोगों ने 15 दिन से मुख्यालय पर धरना दे रखा है लेकिन मुख्य अभियुक्त आज भी फरार है। उक्त प्रकरण के दोषीयों को गिरफ्तार कर कार्यवाही करने की मांग की।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top